श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

आचार्य गिरिराज किशोर के कार्य को आगे ले जाना ही सच्ची श्रद्धांजलि: मोहन भागवत

आचार्य गिरिराज किशोर के कार्य को आगे ले जाना ही सच्ची श्रद्धांजलि: मोहन भागवत

श्रद्धांजलि सभा में उमड़ा विशिष्ठ जन सैलाब

नई दिल्ली, जुलाई 25, 2014। विश्व हिन्दू परिषद के दिवंगत वरिष्ठ नेता व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक आचार्य गिरिराज किशोर को श्रद्धांजलि देने उमड़ा विशिष्ठ जन सैलाब आज अपनी भावनाओं को रोक नहीं पाया। श्रद्धा-सुमन अर्पित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर-संघचालक पूज्य डॉ मोहन भागवत ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी कार्य को पूर्ण करने की अदम्य इच्छाशक्ति रखने वाले आचार्य गिरिराज किशोर जी आत्मविलोपित व आत्मविस्मृत स्थिति में रहते थे। सरलता, सकारात्मकता और सहचित्त होकर कार्य करना उनका ऐसा स्वभाव था जिसका अनुकरण हम प्रत्येक कार्यकर्ता को करना ही चाहिये। उनका कार्य सतत् व सही दिशा में चले यही उनकी आत्मा को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

नई दिल्ली के लोधी रोड स्थित चिन्मय मिशन में खचाखच भरे ऑडिटोरियम में अपने श्रद्धा-सुमन अर्पित करते हुए विहिप संरक्षक श्री अशोक सिंहल ने कहा कि हिंदू समाज के बहुमत वाली संसद तो आचार्य जी ने देखी किंतु अयोध्या में भव्य राम मंदिर का उनका सपना अभी अधूरा रह गया। गौ रक्षा, गंगा रक्षा, राम जन्मभूमि हो या एकात्मता यात्रा सभी में उन्होंने निपुणता हासिल की। उनका कहना था कि मैंने जितनी बार उन्हें याद किया मेरे मन को बहुत शांति मिली। विहिप कार्याध्यक्ष डॉ प्रवीण भाई तोगडिया ने कहा कि श्री राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के आचार्य जी के संकल्प को हम अवश्य पूरा करेंगे।

इस अवसर पर विहिप के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री विष्णु हरि डालमिया, महामंत्री श्री चंपत राय, उपाध्यक्ष श्री ओम प्रकाश सिंहल, केंद्रीय मंत्री डॉ सुरेंद्र जैन, प्रांत अध्यक्ष डॉ रिखब चंद जैन, भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री रामलाल, श्री विनय कटियार, श्री विजय गोयल, साध्वी ॠतंभरा, साध्वी विभानंद, प्रसिद्ध कत्थक नृत्यांगना नलिनी जी, धर्मयात्रा महासंघ के श्री मांगेराम गर्ग, राष्ट्रीय सिख संगत के सरदार चिरंजीव सिंह, अखिल भारतीय विद्यार्थि परिषद के संगठन मंत्रि श्री सुनील अम्बेकर इत्यादि अनेक वक्ताओं ने आचार्य जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए श्रद्धांजलि दी। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, भूटान नरेश, संघ के सर-कार्यवाह श्री भैया जी जोशी, संघ के सह-सरकार्यवाह श्री सुरेश सोनी, भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री लालकृष्ण आडवाणी, राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे, श्री प्रेम कुमार धूमल, डॉ मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह व आचार्य धर्मेंद्र तथा डॉ नित्यानंद जी जैसे अनेक लोगों ने पत्र के माध्यम से श्रद्धांजलि दी। मंच का संचालन श्री प्रकाश शर्मा ने किया।

श्रीराम जन्मभूमि सहित अनेक सामाजिक आंदोलनों के पुरोधा आचार्य गिरिराज किशोर जी का 95 वर्ष की आयु में गत 13 जुलाई को दिल्ली में निधन हो गया था। संकल्पानुसार, उनकी दोनों आँखें तथा शेष पूरा शरीर आर्मी मेडीकल कॉलेज को दान कर दिया गया था।