श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

ध्वजारोहण से प्रारंभ हुआ बजरंग दल का अधिवेशन

बजरंग दल राष्ट्रीय अधिवेशन दिनाक 10 अक्टूबर को आचार्य बालकृष्ण जी, विहिप के अंतराष्ट्रीय संगठन महामंत्री मा दिनेश चन्द जी, अंतराष्ट्रीय महामंत्री मा चंपत राय जी, बजरंग दल के राष्ट्रीय सायोजक राजेश पाण्डेयजी के द्वारा ध्वजपूजन एव ध्वजारोहण से प्रारम्भ हुआ l देश भर से आए प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुये आचार्य बालकृष्ण महामंत्री पतंजलि योगपीठ ने कहा की भारत के गौरव की रक्षा युवाओ के हाथो मे है, आज विश्व भर में योग और आयुर्वेद को श्विकरिता बढ़ी है l भारतीय युवाओ ने विश्व भर में अपनी योग्यता और क्षमता से प्रभावित किया है l
अधिवेशन का उद्घाटन विश्व हिन्दू परिषद के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष राघव रेड्डी जी व पूज्य स्वामी जितेन्द्र नाथ जी महाराज के द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया l पूज्य स्वामी जितेन्द्र नाथ जी ने संबोधित करते हुये कहा की “हिन्दू हम सब एक है” विहिप के स्वर्ण जयंती का उद्घोष है वास्तव में पिछले 50 वर्षो से सम्पूर्ण हिन्दू समाज को एक सूत्र मे पिरोने का कार्य कर रहा है l राम जन्मभूमि आन्दोलनके इस कार्य मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, बजरंग दल ने देश के युवाओ को संगठित कर जाति क्षेत्र की सभी सीमाओ को तोड़ कर सम्पूर्ण राष्ट्र को एक साथ खड़ा कर दिया है l विश्व मे संगठित हिन्दू समाज का प्रकोत्सव हुआ l
उद्घाटन के अवसर पर श्रीमति सुमिता कोठारी और श्रीमति शिल्पी वर्मा को विशिस्ठ रूप से सम्मानित किया गया l श्रीमति सुमिता कोठारी राम जन्मभूमि आन्दोलन में बलिदान होने वाले श्री शरद कोठारी एव राम कोठारी की माताजी है , श्रीमति शिल्पी वर्मा अमरनाथ श्राइन बोर्ड आन्दोलन में पहले बलिदान होने वाले कुलदीप डोगरा जी की धर्मपत्नी है l श्रीमति सुमिता कोठारी का परिचय जब विहिप महामंत्री चंपत राय जी ने कराया तो सम्पूर्ण सभागार में उपस्थित सभी की आंखे नम हो गई l लेकिन मातश्री ने कहा की मेरी आंखो में केवल श्रीराम मंदिर के भव्य स्वरूप का ही चित्र है आज के कार्यकर्ताओ का दायित्व है l सभी प्रतिनिधियों ने “रामलला हम आएंगे – मंदिर भव्य बनाएँगे “ के उद्धघोष के साथ राम मंदिर निर्माण के संकल्प को दोहराया l
अंतराष्ट्रीय अंध्यक्ष राघव ने अध्यक्षीय भाषण में कहा की राम जन्म भूमि पर भव्य मंदिर विहिप का संकल्प है देश ही नही विश्व के हिन्दुओ ने राम शिलापूजन कर संकल्प लिया था l बजरंग दल हिन्दू मानबिन्दुओ एव हिन्दू संस्कृति की रक्षा के लिए कटिबध्य है l अंतराष्ट्रीय संगठन महामंत्री मा, दिनेश जी ने बजरंग दल की कार्य पद्धति और कार्य की दिशा मे मार्गदर्शन दिया, आगामी एक वर्ष ही नहीं पाँच वर्षो की कार्य योजना पर विचार व्यक्त करते हुये सम्पूर्ण योजना बनाने को कहा |
अधिवेशन मे पूज्य स्वामी सत्यमित्रानंद जी महाराज ( संस्थापक, भारत माता मंदिर ) जी का आशीर्वाद भी कार्यकर्ताओ को प्राप्त हुआ, पूज्य स्वामी जी ने कार्यकर्ताओ को अधिक से अधिक कार्य करने का प्रयास करने का आहवाहन किया, उदाहरण देते हुये कहा की रामसेतु के निर्माण मे गिलहरी के योगदान को स्मरण करना चाहिय, गिलहरी का मालूम था की हमारा प्रयास तो छोटा है परंतु हम अपना कर्तव्य तो करेंगे ही l हमारे आदर्श हनुमान जी ने सारे कार्य किए, लेकिन सभी का श्रेय प्रभु श्रीराम को दिया हम श्रेय लेने की होड मे न जावे, अपना दायित्व निभाये |
इस राष्ट्रीय अधिवेशन में बजरंगदल के पूर्व राष्ट्रीय संयाजको का सम्मान समारोह भी आयोजित किया गया, इस अवसर पर पूज्य स्वामी चिन्मयानंद जी महराज ने हनुमान जी को आदर्श मान कर अपने गुर्णो का विकास एवं कार्य करते हुए अपने कर्त्तव्य को करना चाइए, समाज का काम करते समय जोश के साथ धैर्य अनिवार्य है l
स्वयंसेवक संघ के सह सर कार्यवाह मा सुरेश सोनी जी ने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुये कहा की हमारा वैचारिक अधिस्ठान “हिन्दुत्व” है l हिन्दुत्व को ठीक प्रकार से समझ कर उसका प्रकटीकरण होना चाहिये l हिन्दुत्व को समझने के लिए अपनी भूमि पर लिखे गये ग्रंथो के नाम तो स्मरण रहना चाहिये केवल दो श्लोक याद करे तो सभी को कार्य में स्मरण हो सकता है l
चतुर्वेदा पुरणानि सर्वोपनिषदस्तथा | रामायनम भारत च गीता सददर्शननी च ||
जैना गमस्त्रीपिटिका गुरुग्र्न्था संता गिरि | एष ज्ञाननिधि श्रेस्ठा श्र्धेयों हृदि सर्वदा ||
हमारी संस्कृति मे सभी का विचार वर्षो पूर्व किया है पर्यावरण की ररक्षा कैसे होगी,जल संरक्षण कैसे होगा,हमारे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक अन्त और औषधि कैसे प्राप्त होगी l हमारे वैध औषधि प्राप्त करने से फले यह भी विचार करते थे की इसका संवर्धन कैसे होगा l हम पिछड़े हुये पुरातन पंथी नही अपितु आज के वैज्ञानिक आधार पर भी आधुनिक और सर्वश्रेस्ठ है l
अतिथि विहिप के अंतराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ प्रवीण भाई तोगड़िया उपस्थित रहे और मुस्लिम कट्टरवाद,लव जिहाद,बंगलादेशी घुसपैठ पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुये कहा की देश को इन चुनौतियों का जवाब देने के लिए तैयार रहना है l
अधिवेशन को विहिप के संयुक्त महामंत्री राघवेलु जी, केन्द्रीय मंत्री धरमनारयन जी,केन्द्रीय मंत्री श्री खेम चन्द शर्मा जी, बजरंग दल क्षेत्रीय सायोजक मनोज साहू, हरेश चौहान, सूर्यनरायन ने भी संबोधित किया l
अधिवेशन में बजरंगदल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक श्री जयभान सिंह पवैया, श्री प्रकाश शर्मा, विहिप केंद्रीय मंत्री श्री रवि अन्नंद, श्री अशोक तिवारी, श्री राजेंद्र सिंह पंकज, केंद्रीय सह मंत्री श्री शम्भू, क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री ईश्वरी प्रसाद, अधिवेशन संयोजक श्री रणदीप पोखरिया एवं अधिवेशन व्यवस्था प्रमुख श्री सुरेन्द्र मिश्रा आदि पूर्ण समय उपस्तिथ रहे एवं मार्गदर्शन किया l बजरंग दल के राष्ट्रीय सायोजक राजेश पाण्डेय ने आगामी कार्यकर्मो की घोषणा करते हुये कहा की आगामी 2 नवंबर को हुतात्मा दिवस पर बजरंग दल एक लाख यूनिट रक्तदान करेगा तथा 11 लाख कार्यकर्ताओ को रक्तदान का संकल्प कराएगा और विहिप की स्वर्ण जयंती पर संगठ्नात्मक विस्तार और सुदृढ़ करने पर विशेष ध्यान देगा l बजरंग दल का राष्ट्रीय अधिवेशन 10 से 12 अक्टूबर को प्रेम नगर, हरिद्वार में समपन हुआ l
राजेश पाण्डेय (राष्ट्रीय संयोजक, बजरंग दल )