श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

श्री हनुमत शक्ति जागरण समिति शिमला द्वारा शिमला में महायज्ञ एवं विशाल हिन्दू सम्मेलन.

श्री हनुमत शक्ति जागरण समिति शिमला द्वारा शिमला के सरस्वती विद्या मन्दिर हिम रश्मि परिसर, विकासनगर में एक महायज्ञ एवं विशाल हिन्दू सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय महामन्त्री डॉ0 प्रवीण भाई तोगड़िया ने महायज्ञ में पूर्ण आहुति डाली और विशाल हिन्दू सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत सरकार को संसद मे कानून बनाकर अयोध्या में राम लल्ला के जन्म स्थल की 67 एकड़ भूमि हिन्दूओं के सुपुर्द कर देनी चाहिए ताकि वहां श्रीराम के भव्य मन्दिर का निर्माण हो सके, क्योंकि श्रीराम की जन्म, कर्म व संस्कार भूमि वही है और मन्दिर भी वहीं बनेगा। तोगड़िया जी ने कहा कि अयोध्या में ही नहीं बल्कि हिन्दुस्तान के किसी भी कोने में बाबर के नाम की कोई भी मस्जिद नहीं बनेगी। उन्होने कहा कि यदि कल जमीन हिन्दुओं को सौंप दी जाती है तो दो वर्ष के भीतर श्रीराम का भव्य मन्दिर बन कर तैयार हो जाएगा।

तोगड़िया ने कहा कि आज जेहादी आतंकवाद भारत के आर्थिक तन्त्र को तोड़ने में जुटा है। यदि समय रहते इस जेहादी मानसिकता को नहीं रोका गया तो यह भारत के टुकड़े-2 कर देगी। उन्होने कहा कि जब तक जेहादी वायरस को मिट्टी मे नहीं मिला दिया जाता तब तक न राष्ट्र का निर्माण सम्भव है और न ही देश की सुरक्षा संभव है। उन्होने कहा कि कश्मीर भारत का हिस्सा है जिसे झुठलाया नहीं जा सकता क्योंकि कश्मीर का नाम कश्यप ऋषि के नाम से पड़ा है और कश्यप ऋषि भारत के ही सप्त ऋषियों मे से एक हैं। उन्होने कहा कि भारतीय संस्कृति और परम्परा के कई तीर्थ स्थल, मन्दिर व नाग के 700 तीर्थ स्थल कश्मीर घाटी में हैं और 1990 में जेहादियों द्वारा घाटी में 300 मन्दिरों को भी तोड़ा गया जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

गऊ हत्या पर बोलते हुए तोगड़िया ने कहा कि जब तक धरती पर गऊ हत्या होती रहेगी और गाय का रक्त धरती पर गिरता रहेगा तब तक अन्न, धन, आरोग्य की प्राप्ति नहीं होगी। उन्होने गऊ हत्या का मुख्य दोषी मुस्लिम समुदाय को बताया।

अस अवसर पर पूज्य महंत सूरज नाथ योगी जी ने कहा कि हिमाचल के रोहड़ू क्षेत्र में धर्मान्तरण जोरो शोरों से चला हुआ है और अगले 10 वर्षों में पूरा रोहड़ू तो धर्मान्तरण की चपेट मे आएगा ही साथ ही हिमाचल के अन्य भागो में भी इसका पूर्णतय: असर होगा। उन्होने कहा कि धर्मान्तरण के विषय को सरकार को भी सचेतगी से लेना चाहिए ताकि भोले भाले हिमाचलियों को धर्मान्तरण के नाम पर ठगा न जा सके।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सम्पर्क प्रमुख श्री बिहारी लाल शर्मा ने पूरे देश भर में चल रहे यज्ञों एवं हिन्दू सम्मेलनों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि पूरे देश भर में 8000 विकास खंडों के 10000 स्थानों पर इस तरह के कार्यक्रम हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज अयोध्या मे श्रीराम मन्दिर के निर्माण को लेकर सघर्षरत है और आज वो घड़ी सामने आती दिख रही है कि राम लल्ला वहीं विराजमान होंगें और उनके भव्य मन्दिर का निर्माण होगा। हाल ही में उच्च न्यायालय द्वारा दिए गए फैंसले से भी स्पष्ट हो गया है कि वास्तव में ही अयोध्या में श्रीराम जी का जन्म स्थान है और पूर्व में उसी स्थान पर उनका मन्दिर था। उन्होने कहा कि हनुमत् शक्ति जागरण समिति ने जो संकल्प लिया है वो निश्चित रूप से पूरा होगा और हिन्दू समाज विजयी होगा।

अधिवक्ता प्रकोष्ठ संघ की अध्यक्षा रीता गोस्वामी ने समरसता पर बोलते हुए कहा कि अनुच्छेद 15 में प्रावधान किया गया है कि किसी भी व्यक्ति के साथ जाति, धर्म, लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं किया जा सकता। लेकिन मार्कसवादी, सैक्युलर वादी समाज को तोड़ने में लगे हैं जो चिन्ता का विषय है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत सह कार्यवाह डॉ0 वीर सिंह रांगड़ा ने भी हिन्दू सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में जम्मू व कश्मीर की समस्या भारत के लिए एक चुनौती बन कर उभरी है जिसका समाधान नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में इसके गम्भीर परिणाम सामने आएंगे।

इस अवसर पर शिमला नगर के अलावा इसके साथ लगते अन्य इलाकों से लगभग 3500 लोगों ने विशाल हिन्दू सम्मेलन मे भाग लिया और यज्ञ मे आहुतियां दी। इस मौके पर सरस्वती विद्या मन्दिर की छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया।

 

नागपुर- अयोध्या में मन्दिर हि बनेगा ः डॉ. प्रविणभाई तोगडिया

विश्व हिन्दु परिषद के अन्तराष्ट्रिय महामन्त्रि प्रविण तोगडिया ने कहा कि अयोध्या में सिर्फ मन्दिर हि बनेगा।

श्री तोगडिया ने विहिप के धन्तोलि स्थित कार्यालय में संवाददाताओं से कहा कि अयोध्या कि ६७ एकड जमिन पर सिर्फ भव्य राम मन्दिर हि बनेगा। ” मन्दिर

वहि मस्जिद नहि, और बाबरि पुरे देश में कहि नहि”। इसकि रणनिति तय करने के लिए १२ दिसंबर को रेशिमबाग में विशाल हिन्दु संम्मेल्न होगा वाहां संतो

का मार्गदर्शन होगा। उन्होने स्पष्ट किया कि विहिप इस संबंध में अल्पसंख्यकों के वक्फ बोर्ड से चर्चा नहि करेगा। मन्दिर निर्माण के लिए

हनुमत शक्ति जागरण समिति के साथ मिलकर देशभर में आंदोलन चलाया जायेगा। उनका कहना है कि बाबर ने मन्दिर ध्वस्त कर हि ढांचे का निर्माण किया था।

इसलिये वाहां मन्दिर के अलावा कुछ नहिं बनेगा। इस विशाल हिन्दु संम्मेलन में सभि हिन्दु बन्धु समाज, जाति, पंथ, बिरादरि, पुजा पध्दति, राजकिय सोच

से उपर उठकर सहभागि हों और मन्दिर निर्माण कें लिए संकल्पबध्द हों ऐसा अवाहन किया। इस अवसर पर प्रांतअध्यक्ष विजयजित वालिया, प्रांतमन्त्रि डॉ.

हेमंत जांभेकर, नागपुर संघटनमन्त्रि विवेक कुलकर्णि, हनुमत शक्ति के उपाध्यक्ष सतनामसिंग सोखि, संयोजक सुबोध आचार्य आदि उपस्थित थे।

संवाददाता को संबोधित करने के बाद नागपुर के प्रसिध्द गणेश टेकडी मंदिर में डॉ. तोगडिया ने दर्शन किया।