श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

विहिंप केन्द्रीय प्रन्यासी मण्डल एवं प्रबंध समिति संयुक्त अधिवेशन,जबलपुर (म.प्र.)

उद्घाटन सत्र
विश्व हिन्दू परिषद केन्द्रीय प्रन्यासी मण्डल तथा प्रबंध समिति की बैठक आज दिनांक 25 दिसम्बर को अग्रसेन कल्याण मण्डपम्, विजयनगर, जबलपुर में मंगलविधि के साथ विधिवत प्रारंभ हुई। इस बैठक में अमेरिका, जर्मनी, इटली, बांग्लादेश सहित भारत के 250 प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।
उद्घाटन सत्र में विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष माननीय जी0 राघव रेड्डी जी ने कहा कि पूज्य श्री अशोक सिंहल जी मेरे गुरुदेव थे। वे भले ही शरीररूप में अब हमारे मध्य में नहीं हैं पर उन्होंने हमको जो काम सौंपा है, उसको हम पूरा करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि हमको एक वर्ष तक संगठन को मजबूत करना होगा तभी हम आगे आंदोलन तथा अभियान को चला सकेंगे।
पूज्य स्वामी डॉ. श्यामदास जी महाराज ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि विश्व हिन्दू परिषद हिन्दू समाज की रीढ़ है। हमको विश्व हिन्दू परिषद के कार्यों को जन-जन तक पहुंचाना चाहिए।
बैठक के सभी सत्रों का संचालन महामंत्री श्री चम्पत राय जी कर रहे हैं। विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत इकाई से लेकर विहिप के शीर्ष नेतृत्व तक सभी अधिकारी बैठक में उपस्थित हैं।

प्रस्ताव क्र. 2 जनसंख्या असंतुलन

प्रस्ताव क्र. 3 सामाजिक समरसता