श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

धर्माधारित आरक्षण एक अभिशाप और भारत विभाजन की नींव – विहिप

भारत सैक्यूलर है तो आज तक कश्मीर या मणीपुर में कोई हिन्दू मुख्य मंत्री क्यों नहीं?

नई दिल्ली मार्च 24, 2012। विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डा प्रवीण भाई तोगडिया के धर्माधारित आरक्षण को भारत के लिए एक अभिशाप तथा देश विभाजन की नींव बताया है। दिल्ली में विहिप के मीडिया विभाग द्वारा विक्रमी संवत् 2069 के स्वागत में आयोजित एक गोष्ठी को संबोधित करते हुए उन्होंने पूछा कि देश के सौक्यूलर नेता बताएं कि आखिर स्वतंत्र भारत के इतिहास में जम्मू-कश्मीर या मणीपुर में आज तक कोई हिन्दू मुख्य मंत्री क्यों नहीं बना पाए। बहु संख्यक हिन्दू जनसंख्या वाले उत्तर प्रदेश की नव गठित विधान सभा में रिकार्ड 68 मुस्लिम विधायक हैं तथा लगभग एक चौथाई मंत्रि मण्डल मुस्लिम समुदाय से है। पहले भी अनेक हिन्दू बाहुल्य राज्यों में मुस्लिम मुख्यमंत्री बने हैं किन्तु क्या हिन्दू अल्प संख्यक राज्य में कभी किसी हिन्दू को यह मौका दिया गया? यदि नहीं तो हिन्दुओं के पैसे व मेहनत की कमाई पर अल्पसंख्यकों के पहले अधिकार की वकालत करने वाली यह सरकार मुस्लिम आरक्षण के नाम पर हमारे हिन्दू युवकों की रोजी व रोटी छीनने से बाज आए वर्ना हिन्दू समाज चुप नहीं बैठेगा। इस आरक्षण को देश के लिए एक अभिशाप बताते हुए उन्होंने अप्रेल से मुस्लिम आरक्षण के विरुद्ध एक प्रचण्ड देश व्यापी आन्दोलन की घोषणा की। तहसील व ब्लाक स्तर तक होने वाले इस आन्दोलन में विधार्थियों व युवकों को बडी संख्या में सामिल किया जायेगा।

दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में विहिप दिल्ली के मीडिया द्वारा संचालित कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में बोलते हुए दिल्ली इण्डिया पालिसी फ़ाउण्डेशन के निदेशक व विश्व विद्यालय के प्रो राकेश सिन्हा ने आंकडों का हवाला देते हुए कहा कि देश की जनसंख्या में तेजी से बदलती हुए धर्माधारित असमानता हिन्दुओं के लिए चिन्तनीय है। हिन्दुओं की जनसंख्या ब्रद्धी दर मुसलमानों की इस दर से आधी है। एक तरफ़ अधिक आवादी के लिए उन्हें अनेक प्रकार के आरक्षण व संसाधन आवंटित किए जा रहे हैं तो दूसरी तरफ़ हिन्दुओं को दो से अधिक संतान करने पर अनेक प्रकार से प्रताडित किया जाता है। देश के सभी कानून समानता से क्यों नहीं लागू किए जाते?

भारतीय नव वर्ष – विक्रमी संवत् 2069 के स्वागत के लिए विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल ने आज एक वाहन रैली भी निकाली। विहिप के विभाग मंत्री श्री विजय गुप्ता, जिला मंत्री श्री राम गोपाल व दक्षिणी दिल्ली के बजरंग दल संयोजक श्री क्रष्ण कान्त की संयुक्त अगुवाई में निकाली गई वाहन रैली संगम विहार रतिया मार्ग से प्रारम्भ होकर मंगल बाजार, तिग़डी, देवली, खानपुर, क्रष्णा पार्क, राजू पार्क होती हुई मदनगीर में समाप्त हुई।

रैली को सम्बोधित करते हुए विहिप दिल्ली के मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने कहा कि पूर्णत: वैज्ञानिक तथ्यों, ग्रहों नक्षत्रों व खगोल शास्त्र पर आधारित विक्रमी संवत् के अधिकाधिक प्रसार की आवश्यकता है। इसी कालगणना के आधार पर ही तो हम जन्म, नामकरण, उपनयन, विवाह तथा ग्रह प्रवेश इत्यादि के लिए एक अच्छा दिन चुनने के लिए पंडित जी के पास जाते हैं।