श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

हिन्दू सर्वजाति महापंचायत,लखनऊ

हिन्दू सर्वजाति महापंचायत प्रस्ताव

हम संकल्प करते हैं कि किसी भी कीमत पर किसी भी हिन्दू की- ओबीसी, एस.सी,एस.टी, ठाकुर, ब्राह्मण वैश्य की रोटी शिक्षा, और नौकरी मुसलमानों को नहीं देने देंगे

सरकार मुस्लिम आरक्षण वापस ले, देश से माफी मांगी।

ज्योतिषपीठाधीश्वर ज.गु. शंकराचार्य पू0 स्वामी वासुदेवानन्द सरस्वती जी के आशीर्वाद और विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ0 प्रवीणभाई तोगडिया जी के मार्गदर्शन में उ0प्र0 के 500 से अधिक स्थानों से 50 हजार से अधिक लोगों की सहभागिता रही। 15 जाति बिरादरी के मुखियाओं ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया। सभी जाति बिरादरी- ठाकुर, यादव, कुर्मी, जाट, विश्वकर्मा, सैनी, मौर्या, पाल, ब्राह्ममण वैश्य, एस.सी, एस.टी, लोध, मल्हा- सहित 150 से ज्यादा हिन्दुओं की जाति बिरादरी के सभी तहसीलों से उपस्थित जनसमूह हिन्दू सर्वजाति महापंचायत लखनऊ में प्रातः 12 बजे सर्वसम्मति से संकल्प करते हैं कि किसी भी कीमत पर, किसी भी हिन्दू- ओबीसी, एस.सी,एस.टी, ठाकुर, ब्राह्ममण, वैश्य के रोटी, नौकरी, शिक्षा छीनकर मुसलमानों को नहीं देंने देगे। इसके लिए हम भारत के हर गांव तक हिन्दू पंचायत करेंगे, करोड़ों लोगों से मुस्लिम आरक्षण के विरूद्ध संकल्प करवायेंगे।

भारत के संविधान ने मजहब के आधार पर आरक्षण अमान्य किया है। इसलिए ओबीसी के 27ः आरक्षण में से छीनकर 22.5ः करना और छीना हुआ 4.5ः आरक्षण मुसलमानों को देना, यह भारत के संविधान की हत्या है। मुसलमान और सरकार मिलकर हिन्दुओं के विरूद्ध जेहाद है।

हम देश के सभी जाति बिरादरी के हिन्दुओं को सावधान करना चाहते हैं कि रंगनाथ मिश्र एवं राजेन्द्र सच्चर के द्वारा दिये गये मुसलमानों के द्वारा दिसये गए गलत आकड़ों के आधार पर राजेन्द्र सच्चर और रंगनाथ मिश्र कमिशन ने जो गलत रिपोर्ट दिया है के आधार पर दिये गये अनेक सुझावों में से एक सुझाव का अमल है। ओबीसी से छीनकर मुसलमानों को आरक्षण देना।सभी सुझावों का अमल होगा तो –

01. ओबीसी से 6ः आरक्षण छीनकर मुसलमानों को देंगे।

02. एस.सी के आरक्षण में मुसलमान ईसाईयों को सम्मिलित करेंगे।

03. एस.टी के आरक्षण में भी मुसलमानों ईसाईयों को सम्मिलित करेंगे।

04. मजहब के आधार पर 15ः आरक्षण दिया जायेगा जिसमें से 6ः ओबीसी से और 9ः ओपन मैरिट-ठाकुर, ब्राह्ममण, वैश्य सहित सभी हिन्दू का छीना जायेगा।

अतः यह हिन्दुओं की सभी जाति बिरादरी की नौकरी,शिक्षा, व्यापार छीनने का षडयंत्र है।

हमारी मांग है –

01. एक भी हिन्दू की रोजगार शिक्षा-अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, ओबीसी.ओपन मेरिट- ठाकुर, पंडित, वैश्य आदि से मुसलमान ईसाईयों को नहीं देने देंगे।

02. ओबीसी के आरक्षण से 4.5ः मुस्लिम आरक्षण तुरन्त वापस लेकर सरकार जनता से माफी मांगे।

03. अनुसूचित जाति का आरक्षण ईसाईयों और मुसलमानों को नहीं देने का वचन दे।

04. अनुसूचित जनजाति के आरक्षण से ईसाईयों को दूर करो। और ईसाई मुसलमानों को नहीं देने का वादा करों।

05. मुसलमानों में जाति नहीं है संविधान ने हिन्दू जातियों को ही आरक्षण दिया है तो मुसलमानो को जो तथाकथित जातियों को आज ओबीसी में आरक्षण मिल रहा है उनको भी ओबीसी आरक्षण के लिस्ट से दूर करो।

06. रंगनाथ मिश्र कमिशन और राजेन्द्र सच्चर कमेटी के आधार पर गलत तरीके से मुसलमानों को गरीब दिखाकर हिन्दुओं के टैक्स से मुसलमानों को शिक्षा, नौकरी, लोन एवं आरक्षण देने वाले उपरोक्त दोनों रिपोर्ट अस्वीकार करो।

07. सरकार वचन दे कि संविधान में संशोधन करके महजब के आधार पर मुसलमान या ईसाई को आरक्षण नहीं देंगे।

मुसलमानों ने परिवार नियोजन और एक पत्नी का कानून न स्वीकार करके देश की जनसंख्या बढाकर देश को गरीब रखने का पाप किया है उनको दंडित करना चाहिए और परिवार नियोजन का पालन करने वाले हिन्दुओं को सम्मान देना चाहिए। उल्टा उनसे मुस्लिम वोट बैंक के सामने घुटने टेककर हिन्दुओं का रोजी रोटी छीनकर मुसलमानों को देना यह देश हित के विरूद्ध है।

हम देश के सभी राजनैतिक दलों को चेतावनी देना चाहते हैं कि- आप मुस्लिम वोट बैंक के सामने घुटने टेककर देश विभाजन करवाने वाला और गरीब हिन्दुओं की रोजी रोटी छीनने वाला मुस्लिम आरक्षण का विरोध करो वरना मुस्लिम आरक्षण को समर्थन देने वाले राजनीतिक दल को उनकी कीमत चुकानी होगी।

हम सभी देशभक्त हिन्दू जनता को आह्वान करते हैं कि- हमारी रोजी-रोटी छीनने वाली और देश को विभाजन की ओर ले जाने वाली मुस्लिम वोट बैंक को भारत में पराजित करे।

रंगनाथ मिश्र और राजेन्द्र सच्चर समिति के कारण सभी जाति के हिन्दू छात्रों के साथ बहुत बड़ा अन्याय हुआ है। मुसलमानों को ही छात्रवृत्ति और 3ः पर लोन जबकि हिन्दू छात्र को 13ः प्रतिशत पर लोन देश के 30 करोड हिन्दू छात्रों के साथ अन्याय है।

मुसलमानों को ही बैंकों से व्यापार के लिए लोन वह 6ः प्रतिशत ब्याज पर और हिन्दुओं को मुश्किल से लोन देना और वह भी 13ः व्याज पर हिन्दुओं का व्यापार समाप्त करने का षडयंत्र है।

हम देश के सभी जाति-बिरादरी के हिन्दुओं को एक होने का आह्वान करते हैं कि- हम एक है, हम एक रहेंगे। मुस्लिम वोट बैंक समाप्त करेंगे। एक भी हिन्दू की रोटी-रोजी, नौकरी, शिक्षा छीनने नहीं देंगे और इसके लिए देशव्यापी प्रचण्ड आन्दोलन प्रारम्भ करने का संकल्प करते हैं। यह आन्दोलन के लिए हम धन देंगे, समय देंगे और सर्वोच्च बलिदान भी देंगे। पर मुस्लिम आरक्षण वापस करवाकर ही रहेंगे।

लखनऊ 04 फरवरी, शनिवार

अनुमोदक प्रस्तुतकर्ता

नीरज सिंह-उन्नाव

सचिन्द्र कुमार सिंह पटेल-काशी

राजपरिवार अध्यक्ष,

अतिदलित पिछड़ा वर्ग मंच, उ0प्र0