श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

संकट मोचन आश्रम, रामकृष्ण पुरम, सेक्टर-6, नई दिल्ली में श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह का आयोजन

075दिल्ली 12-09-2014 – कलियुग में भगवान के दर्शन मिलना सहज नहीं होता है, पर भगवान की कथा सुनना बहुत सहज है । यह निश्चित है कि जहां भगवान की कथा होती है, वहां भगवान किसी न किसी रूप में अवश्य उपस्थित रहते हैं । सच्चे मन से नियमपूर्वक कथा सुनने वाले भक्तों को उस जगतनियन्ता की पावन उपस्थिति का अनुभव प्रतिक्षण और प्रतिपल होता है । इसलिये संतों और मनीषियों ने कहा है कि जहां भगवान का गुणगान हो रहा हो, वहां बिना बुलाये भी चले जाना चाहिये ।

वैसे तो भगवान की कथा अपने आप में ही स्वयं सम्पूर्ण है । उसके महत्व का बखान करना सूर्य को दीपक दिखाने के समान है; पर यदि वह कथा किसी सिद्ध स्थली पर हो रही हो, तो उसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है । श्री संकट मोचन हनुमान मंदिर ऐसा ही एक पावन, जाग्रत और सिद्ध मंदिर है । ऐसे सिद्ध मंदिर में प्रतिवर्ष की भांति इस बार भी पितृपक्ष के पावन अवसर पर श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन है। अयोध्या उ.प्र से पधारे पूज्य अनुराग शरण जी महाराज हमें कथामृत पान कराएंगे।

कथा – दिनांक 12 सितम्बर से 18 सितम्बर 2014 तक।   कथा समय – नित्य सायं 4.00 बजे से 7.30 बजे तक।