श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

सरकार देश की जनता से मांफ़ी मांगे : चम्पत राय

सरकार देश की जनता से मांफ़ी मांगे : चम्पत राय

नारी उत्पीडन के विरुद्ध विहिप व दुर्गा वाहिनी ने किए प्रदर्शन हिन्दू हित सम्मेलन हुए जन चेतना यात्रा में परिणत, सख्त कानून की मांग

नई दिल्ली, दिसम्बर 23, 2012। दिल्ली में गेंग रेप व महिला उत्पीडन के विरुद्ध आवाज बुलन्द करते हुए आज विश्व हिन्दू परिषद दिल्ली की महिला शाखा दुर्गा वाहिनी ने दिल्ली के अलग अलग कोनों में लगभग आधा दर्जन स्थानों पर शान्तिपूर्ण प्रदर्शन किया। उत्तरी दिल्ली के शालीमार बाग में विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय महा मंत्री श्री चम्पत राय ने कहा कि देश के प्रधान मंत्री व गृह मंत्री को वर्तमान घटना के अलावा निठारी काण्ड व तन्दूर काण्ड जैसी वीभत्स घटनाओं पर भी देश की जनता से तुरन्त माफ़ी मांग कर ऐसी घटनाओं की पुनरावृति रोकने हेतु कार्य योजना की घोषणा करनी चाहिए। उन्होंने जहां पुलिस द्वारा अपनी नाकामी छिपा कर प्रदर्शकारियों के दमन की तीब्र निंदा की वहीं देश की युवा शक्ति से भी अपील की कि वह जाने-अंजाने में किसी भी प्रकार से राष्ट्रीय सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने से बचें। उनका यह भी कहना था कि लचर कानून व धीमी तथा पंगु न्याय व्यवस्था के साथ राजनैतिक संरक्षण के चलते आज अपराध जगत के मन से पुलिस व प्रशासन का भय लगभग समाप्त हो चुका है जो राष्ट्र के लिए एक चुनौती है।दुर्गा वाहिनी दिल्ली की प्रान्त संयोजिका श्रीमति संजना चौधरी ने प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करते हुए कहा कि जब तक दिल्ली की एक एक बहिन सुरक्षित नहीं, दुर्गा वाहिनी चुप नहीं बैठेगी। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य की मुख्य मंत्री व यूपीए की अध्यक्षा के महिला होने के बावजूद नारी उत्पीडन की घटनाएं दिल्ली में सबसे ज्यादा हैं, इन्हें हर हालत में रोकना ही होगा।विहिप के प्रान्त मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि हिन्दू हित चिन्तक सम्मेलनों के बाद दुर्गा वाहिनी द्वारा आज पूर्वी दिल्ली के सी-8 यमुना विहार तथा सोनिया विहार के खजूरी थाने, दक्षिणी दिल्ली के बदर पुर स्थित मीठापुर चौक, उत्तरी दिल्ली के शालीमार बाग स्थित बीटी ब्लाक तथा सेन्ट्रल दिल्ली के नवी करीम चौक पर हुए विरोध प्रदर्शनों ने एक बार फ़िर स्वतंत्रता आन्दोलनों की याद ताजा कर दी। प्रदर्शनकारियों के हाथों में “नारी उत्पीडन बन्द करे” “नैतिक शिक्षा अनिवार्य करो” “बलात्कारियों को फ़ांसी दो”, बलात्कारी अभी जिंदा हैं देश बडा शर्मिंदा है” इत्यादि नारे लिखी तख्स्तियां थीं तो चेहरे पर गहरा गुस्सा भी स्पष्ट झलक रहा था। प्रदर्शनकारियों व हिन्दू हित चिंतक सम्मेलनों के सह-भागियों को विहिप के केन्द्रीय मंत्री श्री राजेन्द्र सिंह पंकज व श्री जुगल किशोर, दुर्गा वाहिनी की सह संयोजिका कु कुशुम, बजरंग दल के प्रशिक्षण प्रमुख श्री मनोज वर्मा, पूर्ण कालिक श्री नीरज दोनेरिया, विहिप दिल्ली के उपाध्यक्ष सरदार उजागर सिंह, दीपक कुमार, अशोक कुमार व श्री जगन्नाथ बंसल, महा मंत्री श्री सत्येन्द्र मोहन, मंत्री श्री राम पाल सिंह व समाज सेवी श्री संदीप चौधरी सहित अनेक गणमान्य लोगों ने संबोधित किया तथा सैकडों की संख्या में लोगों ने भाग लिया।