श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

“वृद्ध – मित्र” सेवा का आरंभ

हिंदू हेल्प लाईन की पाँचवी वर्षपूर्ति पर वृद्धों के लिए विशेष सेवा  घोषणा !
दिल्ली, ५ मार्च, २०१६ – २४ घण्टे इमर्जेन्सी सेवा के लिए कार्यरत हिंदू हेल्प लाईन ने अपनी पाँचवी वर्षपूर्ति के अवसर पर ज्येष्ठ (वृद्ध ) नागरिकों के लिए विशेष सेवा आरंभ की है।  इस की घोषणा सार्वजनिक समारोह में करते हुए हिंदू हेल्प लाईन के संस्थापक  हिन्दू परिषद के आंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया ने कहा, “एक कॉल पर २४ घण्टे इमर्जेन्सी सेवा देने हेतु आरंभ की हुयी हिंदू हेल्प लाईन की पाँचवी वर्षपूर्ति। 020-6689330 & 07588682181  क्रमांकों पर फ़ोन करने से १५ से २० मिनट में हिंदू हेल्प लाईन के स्वयंसेवक सहाय के लिए आते हैं – स्थान और इमर्जेन्सी  स्वरुप देखकर। वैद्यकीय, प्रवास, कानूनी, व्यवस्थापन,  सांस्कृतिक इमर्जेन्सीज़ में हिंदू हेल्प लाईन तत्पर होती है। स्थापना से आज पाँचवी वर्षपूर्ति तक २ लाख से अधिक कॉल्स भारत भर से आएँ और ४००० से अधिक हिंदू हेल्प लाईन स्वयंसेवकों द्वारा ९८% लोगों को सहाय किया गया। रात में प्रवास करते हुए आप की गाडी अचानक खराब हो जाएँ या किसी दुर्घटना में आप को अस्पताल / रक्त आदि की आवश्यकता हो; हिंदू हेल्प लाईन आप की सेवा में तत्पर है। “Vriddh-Mitra Launch - Delhi - March 5, 2016
पाँचवी वर्षपूर्ति निमित्त “वृद्ध – मित्र ‘  सेवा ज्येष्ठों के लिए आरंभ करते हुए डॉ प्रवीण तोगड़िया ने कहा, “आज छोटा विकेन्द्रित परिवार और अन्य सामाजिक – आर्थिक कारणों से वृद्धों को अनेक समस्याएँ सताती हैं। अकेलापन हो या दिन भर की  देखभाल हो, बिजली – पानी के बिल भरने हो या वैद्यकीय जाँच के रिपोर्ट लाने हो या आरोग्य के लिए चलने जाते समय आधार देने के लिए कोई साथ हो, ये और अन्य अनेक समस्याओं से आज वृद्ध कष्ट में हैं।  ऐसा भी नहीं कि परिवार के सदस्यों को उन के प्रति आदर, प्रेम नहीं ; अवश्य है, लेकिन आज रोजमर्रा का जीवन ही इतना गतिशील हुआ है कि किसी को किसी के लिए समय निकालना कठीन होता है। ऐसे में हिंदू हेल्प लाईन की वृद्ध -मित्र सेवा एक छोटासा योगदान करेगी। आरम्भ में ‘वृद्ध – मित्र ‘ अपने आस पास के, गाँव के दादा, दादी, नाना, नानी के उम्र के लोगों के साथ हर १५ दिनों में एक घण्टा बिताएँगे,  सुख-दुःख की बातें / यादें शान्ति से सुनेंगे, वे चाहते हैं तो उन की पसंद के पुराने गीत उन्हें अपने फ़ोन से सुनाएंगे।  भूखें हैं तो भोजन का प्रबंध करेंगे। कम से कम हर २-३ दिनों में उनसे फ़ोन पर बात करेंगे। वृद्ध – मित्र सेवा हर आर्थिक वर्ग के लिए है। वृद्धों के लिए अन्य सेवाओं के लिए भी सक्षम प्रणालियां हिंदू हेल्प लाईन द्वारा खड़ी की जा रही हैं। ज्येष्ठ नागरिकों के पास समृद्ध अनुभव होता है,  जो समाज कल्याण के लिए उपयुक्त होता है। कई वृद्ध थोड़ा समय और अपना बहुत  अनुभव इन का योगदान समाज सेवा के लिए करना चाहते हैं। उन्हें भी हिंदू  हेल्प लाईन साथ में लेकर आगे बढ़ेगी।”
हिंदू हेल्प लाईन ने अनेक स्थानों पर अनेक समस्याओं में सहाय किया है। राजस्थान के सिरोही से एक गरीब बेटी  ह्रदय में छिद्र था और ऑपेरशन  के लिए रुपये नहीं थे। उन का बी पी एल कार्ड नियमों के अनुसार बनवाकर उन्हें ऑपरेशन कराकर घर भेजा गया। आज वह बेटी आरोग्यपूर्ण जीवन जी रही है।