श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

श्री अशोक सिंहल ने किया “विश्व हिन्दू परिषद – एक परिचय” का विमोचन

नई दिल्ली दिसम्बर 21, 2014 | ‘विश्व हिन्दू परिषद-एक परिचय’ पुस्तक का विमोचन करते हुए विहिप संरक्षक श्री अशोक सिंहल ने कहा की हमने कभी धर्मांतरण नही किया हम तो लोगो का दिल जितने व आध्यात्मिक विजय के लिए निकले हैं| घर वापसी करना प्रत्येक बिछुड़े हुए का अधिकार है जिसे कोई रोक नही सकता|

विश्व हिन्दू परिषद की स्वर्ण जयंती वर्ष के अवसर पर लोकार्पित इस पुस्तक के लेखक व विहिप दिल्ली के सह-संगठन मंत्री डॉ अनिल कुमार ने पुस्तक की प्रस्तावना रखते हुए कहा की गत 50वर्षो में विहिप द्वारा किये गये कार्यो तथा आगामी योजनाओ के सन्दर्भ में संछिप्त किन्तु सारगर्भित विवरण देने का प्रयास भर ही इस पुस्तक में किया गया है| क्योकि, विहिप के कार्य किसी एक छोटी सी पुस्तक में समाहित नही किये जा सकते|

प्रभात प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक का प्रक्कथन विहिप के अंतराष्ट्रीय महामंत्री श्री चम्पत राय ने लिखा है| इस अवसर पर उन्होंने कहा कि धर्मांतरण को रोकने हेतु एक कठोर कानून बनाना नितांत आवश्यक है जिसकी मांग विहिप गत 50 वर्षो से कर रहा है| इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा की प्रत्येक व्यक्ति को अपने मूल पर लौटने का भी पूर्ण अधिकार है|

दक्षिणी दिल्ली के सेक्टर -6 स्थित विहिप मुख्यालय में हुए इस कार्यक्रम में त्रिनिदाद से पधारे पूज्य स्वामी ब्रह्मस्वरूपानन्द, होलैंड के राजा लुईस, प्रान्त संघचालक श्री कुलभूषण आहूजा, विहिप अंतराष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री ओमप्रकाश सिहल तथा प्रान्त अध्यक्ष डॉ रिखब चंद जैन सहित राजधानी के अनेको संगठनो के गणमान्य लोग एव मातृशक्ति उपस्थित थी|

DSC09005

 DSC09003