श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

सेवा कुंभ-2014-15 का शुभारंभ

सेवा प्रकल्प-छात्र/छात्राओं ने इन्द्रधनुषी छटा बिखेरी

भरुच (गुजरात), 30 नवम्बर । राष्ट्रीय सेवा संवर्धन समिति के तत्वावधान में दि. 30/11/2014 को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह मा. सुरेश जोशी (भैया जी जोशी) एवं विश्व हिन्दू परिषद के अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष मा. डॉ. प्रवीणभाई तोगडि़या ने दीप प्रज्ज्वलन करके सेवा कुंभ 2014-15 का शुभारंभ किया । गणमान्य महानुभावों का जानकी आश्रम डेडियापाड़ा की निवासिनी बालिकाओं ने भव्य स्वागत किया । बड़ताल के स्वामीनारायण मंदिर के वरिष्ठ संत प.पू. नौत्तम प्रकाश शास्त्री जी महाराज ने आशीर्वाद प्रदान किया । विश्व हिन्दू परिषद के सेवा प्रमुख अरविंदभाई ब्रह्मभट्ट ने अपने प्रास्ताविक उद्बोधन में विश्व हिन्दू परिषद के 50 वर्ष की यात्रा में सेवा के द्वारा सामाजिक परिवर्तन में गुजरात के जानकी आश्रम-डेडियापाड़ा की महती भूमिका की सराहना की ।

विश्व हिन्दू परिषद की स्वर्ण जयंती महोत्सव के उपलक्ष्य में देश के 20 स्थानों पर आयोजित होने वाले सेवा कुंभ के प्रथम के कार्यक्रम में मा. सरकार्यवाह जी की उपस्थिति ने आयोजन को गरिमामय बनाया ।

विहिप अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ. प्रवीणभाई तोगडि़या ने सेवा कार्यकर्ता सम्मेलन में विश्व हिन्दू परिषद के 50 वर्ष की सफल यात्रा का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया । देश में विहिप द्वारा चलाये जा रहे 58121 सेवा कार्य और उनके द्वारा समाज परिवर्तन के कार्य की सराहना करते हुये सुखी, समृद्ध, सुरक्षित, समरस हिन्दू समाज के लिये विश्व हिन्दू परिषद का कार्य बढ़ाने का आह्वान किया । डेडियापाड़ा, अंजार, कथोला, झालोद और अहमदाबाद के सेवा प्रकल्पों ने अपने-अपने क्षेत्र में समाज में आये बदलाव का उल्लेख करते हुये कार्यवृत्त प्रस्तुत किये । वर्षाबहन सेठ द्वारा संपादित सेवा कुंभ स्मारिका का विमोचन मा. सरकार्यवाह जी एवं राष्ट्रीय सेवा संवर्धन समिति के उपाध्यक्ष जीतूभाई भंसाली-मुंबई ने किया । भंसाली जी ने सम-सामायिक उद्बोधन में विश्व हिन्दू परिषद द्वारा संचालित सेवा कार्यों की सराहना करते हुये सेवा कार्य के लिये तन-मन-धन से सहयोग करने का आश्वासन दिया ।

सरकार्यवाह जी ने सेवा कार्यकर्ता सम्मेलन सेवा कार्य की महत्ता को व्याख्यायित करते हुये सेवा को समाज परिवर्तन के लिये प्रभावी साधन बताया । विश्व हिन्दू परिषद, गुजरात के कार्याध्यक्ष डॉ. कौशिकभाई मेहता ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुये बताया कि गुजरात में डांग से कच्छ तक चल रहे सेवा कार्य समाज परिवर्तन में अपना विशेष योगदान दे रहे हैं । सेवाभावी कार्य में समर्पित वर्षा बहन सेठ एवं आशा बहन पटेल की भूरि-भूरि प्रशंसा की और पाल सेवा प्रकल्प के संस्थापक स्व. डॉ.वी.ए. वणीकर जी के योगदान को उन्होंने भावपूर्वक स्मरण किया ।

सेवा कार्यकर्ता सम्मेलन में पूज्य संत वृंद स्वामी नौत्तम प्रकाश शास्त्री जी, स्वामी विद्यानंद जी, स्वामी अखिलेश्वरदास जी, ओंकारानंद जी ने कार्यकर्ताओं को अपना शुभाशीर्वाद प्रदान किया ।

सेवा कुंभ 2014-15 कार्यक्रम का द्वितीय चरण सांस्कृतिक रंगारंग कार्यक्रम भरुच नगर के सुप्रसिद्ध पं0 ओंकारनाथ ठाकुर कला भवन सभागार में आयोजित किया गया । डेडियापाड़ा, अंजार के कन्या छात्रावास की बालिकाओं ने गणेश वंदना, सरस्वती वंदना, दुर्गा देवी स्त्रोत, वनवासी नृत्य, रास-गरबा प्रभावी ढंग से प्रस्तुत किया । झालोद, संतरामपुर, कथोला, पीपरी, वांसदा, खांभला, देवलपाड़ा, आश्रमशाला के बालक/बालिकाओं ने वनवासी नृत्य, पिरामिड के द्वारा विविध योगासन एवं पाल विद्यालय की बालिकाओं ने राजस्थानी गरबा, अंजार छात्रावास की बालिकाओं ने हनुमान चालीसा, राजस्थानी, काठियावाड़ी नृत्य, एक अभिव्यक्ति नृत्य, डेडियापाड़ा की बालिकाओं ने मराठी नृत्य प्रस्तुत किया । डेडियापाड़ा जानकी विद्यालय के बालक/बालिकाओं ने मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्रभाई मोदी के स्वच्छ भारत अभियान पर ’वनवासी गांव में स्वच्छता से लाभ‘ विषयक नाटिका प्रस्तुत की ।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह मा. भैया जी जोशी ने सभागृह में उपस्थित शहर के वरिष्ठ/प्रभावी सद्ग्रहस्थों को संबोधित करते हुये कहा कि इस कार्यक्रम के द्वारा सेवा कार्य की उपलब्धियों की अनुभूति हो रही है । उन्होंने प्रकल्प के बालक/बालिकाओं एवं संचालकों के परिश्रम की सराहना की ।

डॉ. तोगडि़या सांस्कृतिक रंगारंग कार्यक्रम से प्रभावित हुए । उन्होंने समाज के प्रबुद्ध वर्ग से सेवा कार्य में आगे आने के लिये आह्वान किया । मा. सरकार्यवाह जी एवं विहिप कार्याध्यक्ष द्वारा सांस्कृतिक रंगारंग कार्यक्रम में भरुच के वरिष्ठ और पुराने स्वयंसेवक जो भरुच जिला के मा. संघचालक रहे मा. श्री मूलचंदभाई चैहाण, उनकी धर्मपत्नी सौ. पुष्पाबहन एवं समाजसेवी धनजीभाई परमार को भी सम्मानित किया ।

आप्तजनों की सेवा का पावनतीर्थ ’अपनाघर आश्रम‘ के साथ जुड़े सरकड़ीया गांव के दिनेशभाई लाठीया, सूरत के उपेन्द्रभाई आचार्य, भरुच नगर के महेशभाई टेलर और राकेशभाई भट्ट को भी सम्मानित किया गया ।

सांस्कृतिक रंगारंग कार्यक्रम में विहिप अ. भा. सेवा प्रमुख अरविंदभाई ब्रह्मभट्ट, सहसेवा प्रमुख मधुकरराव दीक्षित व नंदलाल लोहिया, मुंबई के सेवाभावी मा. वाड़ीभाई एवं भरुच के माणिकभाई का अभिनन्दन किया गया ।

विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत मंत्री नीरलभाई पटेल, गुजरात के क्षेत्र सेवा प्रमुख रामभाई पटेल, जानकी आश्रम के कीर्तिभाई जैन एवं सेवाकुंभ समिति गुजरात के अध्यक्ष श्री वसंतभाई पटेल ने मा. सरकार्यवाह जी एवं डॉ. प्रवीणभाई जी को वनवासी टोपी और बंडी (जाकेट) पहनाकर स्वागत किया । भारत वेलफेयर ट्रस्ट-यू.के. ने आयोजन को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान किया ।

सेवा कुंभ 2014-15 की श्रंखला का अगला आयोजन 7 दिसम्बर को चिंचवड (महाराष्ट्र) तथा 04 जनवरी, 2015 को भुवनेश्वर (ओडीशा) में होगा ।

– रामभाई पटेल (क्षेत्रीय सेवा प्रमुख) विश्व हिन्दू परिषद-गुजरात