श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

Deport disturbing Rohingya Muslims; save innocent Hindus : Dr. Surendra Jain

रोहिंग्या मुस्लिम उपद्रवियों को बाहर कर निर्दोष हिन्दुओ की रक्षा हो : डा सुरेन्द्र जैन
नई दिल्ली। सितंबर 24, 2017. विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने मुस्लिम रोहिंग्या के बारे में केंद्र सरकार के निर्णय का समर्थन व स्वागत करते हुए कहा है कि देश में कई स्थानों पर रोहिंग्याओं को आतंकवादी गतिविधियों के कारण पकड़ा जा चुका है| विहिप के अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव डा सुरेन्द्र कुमार जैन ने आज एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि वे जहां पर भी रहते हैं, वहां की कानून व्यवस्था के लिए खतरा बन जाते हैं और सब प्रकार के अवैध कार्य करते हैं | इसके बावज़ूद उनको जिस तरह का समर्थन सेक्युलर माफिया से मिल रहा है, यह चिंता का विषय है | रोहिंग्या मुसलमानों के पक्ष में मुस्लिम समाज द्वारा पूरे देश में उग्र व आक्रामक प्रदर्शन भी किये जा रहे हैं | ऐसे हर मौकों पर मुसलमानों की उग्रता भविष्य के लिए खतरा बन सकती है | जयपुर की दुर्भाग्यजनक घटना के मूल में यह उग्र प्रदर्शन ही था | विहिप की अपील है कि राष्ट्रीय चिंतन वाले मुस्लिम नेताओं और सरकारों को इस प्रवृत्ति पर रोक लगानी चाहिए ,नहीं तो ये कुछ भी रूप धारण कर सकता है |
विहिप महासचिव ने कहा कि अभी तक यही माना जा रहा था कि यह मुस्लिम बौद्ध संघर्ष का ही विषय है | परन्तु पिछले दिनों म्यानमार और बंग्लादेश में रोहिंग्या मुसलमानों द्वारा रोहिंग्या हिन्दुओं की निर्मम हत्याओ और उनकी महिलाओं के साथ बर्बर बलात्कारों से यह सिद्ध हो गया है कि रोहिंग्या मुसलमान सभी गैर मुसलमानों के लिए समान रूप से बर्बर और क्रूर है | १०० से अधिक हिन्दुओं की निर्मम हत्या इन्हीं दिनों में हुई हैं जिनमें से 45 के शव जमीन में दबे मिले हैं | सैकड़ों हिन्दू लापता हैं | उनके घरो में रोहिंग्या मुसलमानों ने ही आग लगायी है | बंग्लादेश के राहत शिविरों में भी इनका कहर थम नहीं रहा है | हिन्दुओं का बलात धर्मान्तरण किया जा रहा है | महिलाओं का सिंदूर पोंछ कर चूड़ियां तोड़ी जा रही हैं | लड़कियों को “सैक्स स्लेव ” बनाकर क्रूरतम व्यवहार किया जा रहा है | शायद रोहिंग्या मुसलमान विश्व की क्रूरतम प्रजाति है | भारत में भी यही क्रूर चेहरा कई बार सामने आता है | इनके लिए ” नयों को घुसने नहीं देंगे , पुरानों को निकालेंगे” की नीति आवश्यक है |
परन्तु रखाइन हिन्दू सब प्रकार से पीड़ित हो रहे हैं | उनकी प्राथमिकता भारत में स्थायी रूप से बसने की भी नहीं है | वे म्यांमार के किसी भी बौद्ध या हिन्दू बहुल स्थान पर बसने के लिए तैयार हैं | उन्हें शरणार्थी का दर्जा देकर सुरक्षित व सुखी जीवन देना केंद्र सरकार का नैतिक और संवैधानिक दायित्व भी है | उनको रोहिंग्या मुसलमान घुसपैठिये से अलग करके देखना होगा |
विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री विनोद बंसल द्वारा जारी बयान में डा जैन ने सरकार से अपील की है कि केंद्र सरकार बंगलादेश सरकार पर दबाव डालकर रखाइन हिन्दुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करवाए | म्यानमार सरकार से उन्हें किसी अन्य सुरक्षित स्थान पर बसाने का आग्रह करें | विहिप का एक प्रतिनिधि मंडल मा. विदेश मंत्री , बांग्लादेश और म्यांमार के उच्चायुक्तों से मिलकर रखाइन हिन्दुओं की स्थिति के बारे में उनको अवगत कराएगा और शीघ्र ही आवश्यक कार्यवाही करने का आग्रह करेगा | विहिप द्वारा म्यांमार, बंगलादेश व भारत में रोहिंग्या पीड़ित हिन्दुओं के लिए राहत शिविर प्रारम्भ कर दिए गए हैं.
जारी कर्ता
विनोद बंसल, (राष्ट्रीय प्रवक्ता,विश्व हिन्दू परिषद)
@vinod_bansal M-9810949109


Press Statement:
Deport disturbing Rohingya Muslims & save innocent Hindus : Dr. Surendra Jain
New Delhi. Sept. 24, 2017. VHP supports and welcomes the decision taken by the central government on Muslim Rohingyas. Dr. Surendra Kumar Jain, the International Joint General Secretary Vishwa Hindu Parishad(VHP) today said that The Rohingya muslims have been caught indulging in terrorist activities in various parts of the country. They have been found indulged in illegal activities and become a threat to law and order wherever they reside. Despite this, the kind of support the secular mafia has been providing them is a cause for concern. The muslim community has been carrying out extremely aggressive demonstration in favour of the Rohingya Muslim. Such aggressive demonstrations by muslims has dangerous portents for the future. The unfortunate incident in Jaipur is a prime example of such aggression on display by the muslim community. VHP makes an appeal that this dangerous tendency should be curtailed by muslims of nationalistic thought and the governments in place before it may got out of control.
The joint Gen secretary VHP said that till now, it was supposed to be a Muslim-Buddhist issue but in the last few days, the incidents of barbaric killings and rapes of Hindu Rohingyas by Muslim Rohingyas in Myanmar and Bangladesh has proved that the Muslim Rohingya is equally heinously and cruelly disposed towards all non-muslims.
More than a 100 Hindu Rohingyas have been killed by the Muslim Rohingyas and some 45 bodies of Hindu Rohingyas have been exhumed till now. Hundreds of Hindus are missing. The Rohingya muslims are responsible for their disappearance. The Rohingya Muslims have been on the rampage even in the refugee camps of Bangladesh. They have been forcibly converting the Hindu Rohingyas to Islam. The Hindu women are being forcibly converted to Islam, Hindu symbols like bangles are broken and the sacred vermilion wiped off in the process of conversion. Hindu girls are being made into sex slaves. The Rohingya Muslim is perhaps the world’s most cruel community. Even in India, this cruel face of the Rohingya Muslim has been on display several times. To handle the Muslim Rohingyas, the policy of “No more newcomers, oust the existing ones” needs to be implemented.
Through the statement issued by shri Vinod Bansal, the national spokesperson VHP, Dr. Surendra Jain demands that the Rakhine Rohingya Hindus are getting affected in all sorts of barbaric ways. Their priority is not Indian citizenship. They are ready to relocate to any Hindu or Buddhist majority area in Myanmar. It is the government’s moral and constitutional responsibility to grant them refugee status and provide a secure and blissful life in India. The Rohingya Hindu will have to be seen in a different light, different from the insurgent Rohingya Muslim.
VHP also appeals to the central government to pressurize the Bangladesh government to provide security to the Rakhine Rohingya Hindus. The central government should appeal to the Myanmar government to relocate and settle the Rohingya Hindus to a safe place. A VHP delegation will meet the Indian Foreign Minister, the High Commissioners of Myanmar and Bangladesh and apprise them of the condition of the Rakhine Hindu Rohingyas and request them to take quick action for their security. We have already started relief camps to serve Rohingya Hindus in Myanmar, Bangladesh & Bharat, VHP added.
Issued by:
Vinod Bansal, Spokesperson, Vishwa Hindu Parishad
Tweet : @vinod_bansal, M-9810949109