श्रीराम जय राम जय जय राम, শ্ৰীৰাংজয়ৰাংজয়জয়ৰাং, শ্রীরাম জয় রাম জয় জয় রাম , શ્રીરામ જય રામ જયજય રામ, ಶ್ರೀರಾಮಜಯರಾಮಜಯಜಯರಾಮ, ശ്രിറാം ജയ് റാം ജയ്‌ ജയ് റാം, శ్రీరాంజయరాంజయజయరాం

Govt should take back Black money rather then keeping eye on temple gold: Champat Rai

Govt should take back Black money rather then keeping eye on temple gold: Champat Rai

New Delhi Aug 08, 2013. Government of Bharat should take back the black money deposited in foreign banks rather then keeping eye on the Temple Gold. Reacting to the media reports, the international secretary general Vishwa Hindu Parishad shri Champat Rai said that temple trustees are the care takers of the temple wealth, but not the owners. Thus they can’t sell the property belongs to the deity. Govt should take back the money deposited in foreign banks to overcome the current rupee crisis created by its own failure.

Quoting media reports that RBI is discussing with banks on how to convince temple trusts to deposit their hoard of idle jewellery that could be converted into bullion, shri Champat Rai said if the UPA Govt is serious about solving the foreign exchange crisis, it should ask the people at the helm of affairs to return the deposits they made in foreign banks. Govt should vacate its control over temples, he added.

मन्दिरों का सोना नहीं विदेशों में जमा धन लाए सरकार : चम्पत राय

नई दिल्ली सितम्बर 1, 2013। रुपए की निरंतर गिरती हालात और अर्थव्यवस्था की बदहाली का बहाना बना कर मन्दिरों का सोना कब्जाने के सरकारी सोच की विश्व हिन्दू परिषद ने तीखी आलोचना की है। विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महा मंत्री श्री चम्पत राय ने आज कहा कि मन्दिरों की सम्पत्ति भगवान की सम्पत्ति है तथा मन्दिर प्रबंधन उसका केयर टेकर होता है जिसे सम्पति बेचने का अधिकार नहीं होता। सरकार का भी उस पर कोई अधिकार नहीं है। यूपीए सरकार की करतूतों से हुई अर्थव्यवस्था की तंगहाली से अगर देश को बचाना है तो केन्द्र सरकार मन्दिरों के सोने पर कुदृष्टि लगाने के स्थान पर विदेशों में जमा काले धन को भारत में लाने का प्रबन्ध करे। विहिप दिल्ली के झण्डेवालान कार्यालय में हुई एक बैठक के बाद मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि विहिप अंतर्राष्ट्रीय महा मंत्री ने विभिन्न सरकारों को चेताया है कि वे सत्ता मद में हिन्दू मन्दिरों पर कब्जा जमाने की मानसिकता से बाहर निकलें। यदि मन्दिरों की सम्पत्ति पर डाका डालने का प्रयास किया गया तो हिन्दू समाज चुप नहीं बैठेगा।ज्ञातव्य रहे कि मीडिया रिपर्टों के अनुसार, रिजर्व बैंक वाणिज्यिक बैंकों से यह चर्चा कर रहा है कि मंदिर के न्यासों को इस बात के लिए कैसे राजी किया जाय कि वे सोने के आभूषणों को जमा करें जिसे बुलियन में तब्दील किया जा सकता है।