सच जमीन फाड कर भी सामने आता हॅ।

केरल के मुख्यमन्त्री श्री अच्युतानन्द ने कहा था कि मुस्लिम सन्गठन केरल को २०२० तक मुस्लिम बहुल बनाना चाहतें हॅं।” लव जेहाद”, धर्मान्तरण के अलावा वे आबादी बढाने को इसका हथियार बनाना चाहते हॅं। उनके इस बयान से सेकुलर बिरादरी में बहुत हलचल मची हॅ।क्या उन्होने कुछ नया कहा हॅ? इस्लामी आबादी की खतरनाक वृद्धि पर सारा विश्व चीख-चीख कर चिन्ता जता रहा हॅ। परन्तु जेहादियों के पुराने साथी एक सेकुलर नेता द्वारा इसको स्वीकार करना आश्चर्यजनक हो सकता हॅ। पर यह पहली बार नहीं हो रहा हॅ। बन्गाल के मुख्यमन्त्री श्री बुद्धदेव भट्टाचार्य मदरसों को राष्ट्र विरोधी घोषित कर चुके हॅं। जब भी इनके सिर पर पड्ती हॅ, सच इनके मुख से निकल ही जाता हॅ। परन्तु सेकुलर बिरादरी द्वारा शोर मचाने पर वे या तो चुप हो जाते हॅं या अपने बयान से पलट जाते हॅं। क्या सेकुलर बिरादरी और जेहादियों का नापाक गठ्बन्धन देशहित में कभी टूट सकेगा? इस गठ्बन्धन का नुकसान देश को भुगतना पड रहा हॅ। एक आतन्की नेता मदनी को बढावा देने के कारण आज केरल में पुलिस आतंकियों पर नियन्त्रण करने मे असफल हो चुकी हॅ। भगवान इनको सदबुद्धी प्रदान करे।

You May Also Like