जैन मुनि श्री तरुण सागर जी महाराज के असामयिक निधन पर विश्व हिन्दू परिषद का शोक संदेश

जैन मुनि श्री तरुण सागर जी महाराज के असामयिक निधन पर विश्व हिन्दू परिषद का शोक संदेश
क्रांतिकारी राष्ट्र संत, अन्र्तराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त, प्रखर वक्ता, जन-जन के श्रद्धाकेन्द्र जैन मुनि पूज्य श्री तरुण सागर जी महाराज की असामयिक महासमाधि अतीव वेदनादायक है।
बाल्यकाल से ही जैन धर्म के विचारों से प्रभावित होकर जैन मुनि बने पूज्य तरुण सागर जी महाराज से न केवल जैन समाज ने बल्कि सम्पूर्ण भारत के लोगों ने उनसे कुछ न कुछ सीख ली!
महाराजश्री के सुस्पष्ट विचार हमारे सम्पूर्ण समाज को सच्चा जीवन और देश, धर्म तथा समाज के प्रति निरंतर सेवा करने की प्रेरणा देते रहेंगे।
भगवान के श्रीचरणों में प्रार्थना करते हैं कि वह इस पवित्र आत्मा को सद्गति प्रदान करे।
विश्व हिन्दू परिषद की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।

(मिलिन्द पराण्डे)
महामन्त्री

You May Also Like