बजरंग दल व विहिप द्वारा श्री हनुमान जयंती पर श्री हनुमान दीक्षा कार्यक्रम

हिदू विरोधी नेताओं के हाथ में नहीं दें देश की सत्ता: मिलिंद पराण्डे
अमृतसर, 20 Apr 2019.  देश में हिदू हित वाली सरकार होनी चाहिए। जो भी नेता हिदू विरोधी है उसके हाथों में देश की सत्ता नही होनी चाहिए। देश में धारा 370 को समाप्त करने, श्रीराम मंदिर के निर्माण हेतू, गौ हत्या के लिए कड़े कानून, धर्मातरण विरोधी सख्त कानून, मुसलमानों की देश में हो रही घुसपैठ को रोकने, लव जेहाद के लिए सख्त कानून बनाने वाली राजनीति पार्टी को ही सरकार बनाने का मौका देना चाहिए। यह शब्द विश्व हिदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री मिलिद पराण्डे ने शुक्रवार को बजरंग दल व विहिप द्वारा श्री हनुमान जयंती पर करवाए गए श्री हनुमान दीक्षा कार्यक्रम के बाद दैनिक जागरण से बातचीत में कहे। उन्होंने कहा कि पंजाब में इसाई मिशनरी धर्मातरण करने में लगी हुई है। लालच व झूठ के साथ लोगों को गुमराह करना भी धर्मातरण का एक हिस्सा है। तीन प्रदेश नागालैंड, मिजोरम और मेघालय में इसाई मिशनरी के बढ़ रहे कदम पंजाब में भी अपनी गतिविधियां तेज करने में लगी हुई हैं। धर्मातरण पर सख्त कानून बनना चाहिए। विहिप व बजरंग दल द्वारा कई परिवारों की घर वापसी करवाई जा रही है। चीन जो भारत विरोधी प्रचार करने में लगा है, उसके उत्पादों का लोगों को बहिष्कार करना चाहिए। केंद्र व प्रदेश सरकारों को भी लोगों को स्वदेशी उत्पादों की ओर आकर्षित करना चाहिए।
मिलिद पराण्डे ने कहा कि श्री हनुमान जयंती पर बजरंग दल के प्रत्येक कार्यकर्ता को स्मरण करवाया जा रहा है कि वह हिदू सुरक्षा, हिदू लड़कियों की सुरक्षा, गोरक्षा, धर्म परिवर्तन को रोकने व उच्च जटिल समस्याओं के प्रति आवाज उठाएं। देश में ड्रग्स व शराब जैसी लाहनत को समाप्त करना चाहिए, जिसकी गिरफ्त में युवा पीढ़ी फंस रही है। विहिप व बजरंग दल की 42 हजार सेवा केंद्र, शिक्षा, चिकित्सा, कौशल विकास और नारी सशक्तिकरण में लगी हुई है। परम संतों ने धर्म सदन प्रयागराज में केंद्र सरकार से अपेक्षा रखी हुई है कि वह देश में श्री राम मंदिर का निर्माण करवाएगी। दूसरी पार्टियां सिर्फ भाषणों तक ही सीमित हैं। सदस्यता अभियान के तहत बजरंग दल में 32 लाख बजरंगी तथा दुर्गा वाहिनी व मातृ शक्ति में सात लाख महिलाएं जुड़ी है, जिनको गर्मियों की छुट्टियों में प्रशिक्षण देकर समाज की सेवा में लगाया जाएगा। सेवा, सुरक्षा, संस्कार, ध्येय को लेकर देश की युवा शक्ति संगठित राष्ट्र शक्ति बने। बजरंग दल के आदर्श श्री राम भक्त हनुमान जी हैं। 1984 में विहिप द्वारा जानकी रथ यात्रा निकाली गई थी, जिसका मुस्लिम समुदाय के लोगों ने विरोध किया था। मुस्लिम विरोध के बावजूद लाखों लोग यात्रा में शामिल हुए थे। श्री राम के प्रति लोगों की आस्था को देखते हुए बजरंग दल की स्थापना की गई थी।
कार्यक्रम से पहले श्री दुग्र्याणा तीर्थ से संकीर्तन यात्रा निकाली गई। यात्रा में पंजाब प्रदेश से आए हजारों बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जय श्री राम का जयघोष करते हुए पूरा वातावरण राममय बना दिया। इस अवसर पर बजरंग दल के सह संयोजक सूर्या नारायण, विहिप के क्षेत्रीय संगठन मंत्री मुकेश, विहिप के प्रदेश उपाध्यक्ष हरप्रीत सिंह गिल व कार्यक्रम के अध्यक्ष चरणजीत खुराना विशेष तौर पर शामिल हुए।
जलियांवाला बाग में शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट की
विहिप और बजरंग दल के सदस्यों ने जलियांवाला बाग में शहीद हुए शहीदों को भी श्रद्धाजंलि दी। प्रदेश संगठन मंत्री विजय राणा ने बताया कि 2019 में बजरंग दल द्वारा नशा मुक्त अभियान चलाया गया है, जिसके तहत हर महीने कार्यकर्ता विभिन्न जगहों पर कार्यक्रम करके नशा मुक्त पंजाब के लिए जन जागरण कर रहे हैं। इसी श्रृंखला के तहत मई में काउंसलिग हफ्ता माहिर डाक्टरों द्वारा, जुलाई में जन जागरण हफ्ता, अगस्त में तिरंगा यात्रा, सितंबर में बाइक रैली, अक्तूबर में योगा द्वारा नशा मुक्ति अभियान चलाया जाएगा।
यह गणमान्य लोग रहे मौजूद
इस मौके पर पूर्व मंत्री अनिल जोशी, पूर्व मंत्री प्रो. लक्ष्मीकांता चावला, प्रदेश कार्यअध्यक्ष संतोष गुप्ता, प्रदेश मंत्री विहिप हरिदर, प्रदेश संयोजक योगेश धीर, सहसंयोजक आशीष बोनी बजरंग दल, श्री दुग्र्याणा तीर्थ कमेटी के अध्यक्ष रमेश शर्मा, महामंत्री अरुण खन्ना, विभाग संयोजक रमन तेजपाल, जिला मंत्री हरदीप दुग्गल, अमित अबरोल, हनी मित्तल, रविदर ठुकराल, जुगल किशोर, ऋषि खन्ना, मयंक, विनय वशिष्ट, महंत जसविदर, अरुण महाजन, अजय सलवान, अनूप आनंद, संजीव बजाज, चेतन तिवाड़ी, रविकांत, ओमकार भारती, पाली सहजपाल, जसवीर सिंह, राहुल, संदीप, इंद्रजीत झा, प्रगट सिंह, दविद्र सिंह, नवनीत मिश्रा आदि मौजूद थे।

You May Also Like