बाबा रामदेव की गिरफ्तारी देशभर के संतों का अपमान – अशोक सिंहल

Press Release : 5 June 2011

बाबा रामदेव की गिरफ्तारी देशभर के संतों का अपमान – अशोक सिंहल

नई दिल्ली, 05 जून। विश्व हिन्दू परिषद के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक जी सिंहल ने सरकार द्वारा विदेशों में भ्रष्टाचारी भारतीय द्वारा जमा कराकर रखे गये लाखों करोड़ रूपयों को वापस भारत लाने तथा भ्रष्टाचार के विरुद्ध साथ ही साथ व्यवस्था परिवर्तन के लिए अनशन कर रहे बाबा रामदेव की अर्धरात्रि में की गई गिरफ्तारी को भारत के संतों का अपमान बताते हुए गिरफ्तारी की, गिरफ्तारी के तौर-तरीकों की,सो रहे महिलाओं बच्चों, नागरिकों के साथ किये गये दुव्र्यवहार की कड़े शब्दों में निन्दा की और कहा कि यह कृत्य अंग्रेजी शासन की दमनकारी नीतियों की कटु स्मृतियों की याद ताजा कर देने वाला है।

आज विश्व हिन्दू परिषद, केन्द्रीय कार्यालय में बुलाये गये संवाददाता सम्मेलन में आक्रोश से भरे अशोक सिंहल ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध लोकतांत्रिक ढंग से जन-जागरण कर रहे बाबा रामदेव व उनके समर्थकों पर सरकार ने आधी रात के बाद जिस ढँ़ग से कहर बरपाया है, उससे सिद्ध होता है कि भ्रष्टाचार में डूबी सरकार सत्तामद में भी डूबी है और वह दमन व आतंक के बल पर शासन चलाना चाहती है।

विक्षुब्ध व व्यथित श्री सिंहल ने कहा कि अंग्रेजों द्वारा राष्ट्रीय आन्दोलनों का दमन ऐसे ही निर्लज्ज तरीकों से किया जाता था। उन्होंने कहा कि सरकार जानती थी कि रामलीला मैदान में आने-जाने का एक ही द्वार था, फिर भीं मैदान में घिरी-फँसी जनता पर पुलिस का लाठीचार्ज व अश्रुगैस-प्रयोग एक प्रकार से ‘जलियाँवाला बाग’ की याद दिलाता लगता है।

श्री सिंहल ने घोषणा की कि सरकार के ऐसे दमनात्मक रवैये के विरुद्ध संवैधानिक, लोकतांत्रिक व शान्तिपूर्ण कदम उठाया जाये। उन्होंने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद की स्पष्ट नीति है कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध जो भी आन्दोलन या उपक्रम होगा, विश्व हिन्दू परिषद उन सबका पूर्ण समर्थन व सहयोग करेगी।

04 जून, मध्यरात्रि में रामलीला मैदान दिल्ली में अनशनकारियों पर पुलिस के बर्बर अत्याचार एवं बाबा रामदेव की गिरफ्तारी के विरोध में घोषित कार्यक्रम

विदेशों मे जमा काले धन की वापसी एवं भ्रष्टाचार के विरूद्ध शान्तिपूर्वक धरने पर बैठे पूज्य बाबा रामदेव जी महाराज एवं उनके हजारों अनुयायिओं के ऊपर 04 जून की अर्धरात्रि केन्द्र सरकार के इशारे पर पुलिस द्वारा भीषण लाठीजार्च एवं अमानवीय व्यवहार के विरोध में विश्व हिन्दू परिषद द्वारा पूज्य संतों के नेतृत्व में सम्पूर्ण देश में रैली निकालकर जिला केन्द्रों पर दिनांक 06, 07 व 08 जून, 2011 को प्रदर्शन किये जाऐंगे। यह प्रदर्शन एक स्थान पर किसी एक दिन होगा। प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति से यह मांग की जाएगी कि भारत के संतों एवं हिन्दू समाज का अपमान करने वाली इस घटना के लिए भारत सरकार अविलम्ब क्षमा मांगे।

चम्पतराय संयुक्त महामंत्री,

प्रकाश शर्मा प्रवक्ता,

विश्व हिन्दू परिषद नई दिल्ली

You May Also Like