माननीय श्री अशोक जी सिंहल का प्रेस वक्तव्य

विश्व हिन्दू परिषद के संरक्षक माननीय श्री अशोक जी सिंहल का प्रेस वक्तव्य

नई दिल्ली, 08 मार्च, 2013

अजमेर शरीफ दरगाह के दीवान जैनुल आबेदीन ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के अजमेर दरगाह आगमन का विरोध कर भारत के जन-जन की राष्ट्रीय संवेदना और स्वाभिमान की भावना को ही प्रकट किया है।

दीवान साहब ने विरोध का कारण स्पष्ट करते हुए कहा कि जिस पाकिस्तान ने भारतीय सेना के जवानों का गला काटकर भारत का अपमान किया है,साथ ही पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर जैसे अमानवीय और हिंसक प्रहार हो रहे हैं उसके रहते वहाँ के प्रधानमंत्री का हम दरगाह शरीफ में स्वागत नहीं कर सकते। हमने निर्णय लिया है कि उनके आगमन के समय दरगाह के अन्दर कोई धर्मगुरु उपस्थित रहीं रहेगा।

जब तक पाकिस्तान में भारत के खिलाफ हिंसक और जेहादी वातावरण बना रहता है तब तक पाकिस्तान के साथ किसी भी प्रकार की वार्ता करना उनके अन्दर के अपराध को प्रोत्साहन देना होगा। उसके शत्रुतापूर्ण व्यवहार के रहते मैत्री-वार्ता अर्थहीन है।

अल्पसंख्यकों के ऊपर उनके हिंसक प्रहारों का ही कारण है कि आज हजारों अल्पसंख्यकों को पाकिस्तान छोड़कर भारत आने को बाध्य होना पड़ रहा है। यह भारत ही ऐसा देश है जहाँ सबको समान आदर प्राप्त है। पाकिस्तान को इससे सीख लेनी चाहिए।

जारीकर्ता

प्रकाश शर्मा

प्रवक्ता विश्व हिन्दू परिषद

You May Also Like