राम जन्मभूमि मुकदमे में देरी पर अंकुश लगाए सर्वोच्च न्यायालय: अलोक कुमार

राम जन्मभूमि मुकदमे में देरी पर अंकुश लगाए सर्वोच्च न्यायालय: अलोक कुमार
नई दिल्ली फरवरी 26, 2019. श्री राम जन्मभूमि मामले पर आज की सुनवाई में भी एक पक्षकार द्वारा दुराग्रह पूर्वक मामले को अनावश्यक रूप से खींचने हेतु अनुवाद का विवाद खडा किया गया. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2017 में कराए गए अनुवाद का न्यायालय के अनेक आदेशों में जिक्र भी आया किन्तु अभी तक किसी भी पक्षकार द्वारा कोई आपत्ति दर्ज नहीं की.
विश्व हिन्दू परिषद् आशा करती है कि न्यायिक प्रक्रिया को लंबित करने वालों की इस चाल को माननीय सर्वोच्च न्यायालय पहचानेगा और मुकदमें में और अधिक देरी हेतु किसी को मौक़ा नहीं देगा.
(एडवोकेट आलोक कुमार, अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष, विश्व हिन्दू परिषद्)
जारी कर्ता :
विनोद बंसल (राष्ट्रीय प्रवक्ता)
विश्व हिन्दू परिषद्, ट्वीट: @VHPdigital
M – 9810949109

You May Also Like