सज्जन को सजा से सिखों को मिला न्याय, अब नर-संहार के सूत्रधार भी नहीं बचेंगे : विहिप

प्रेस वक्तव्य :
सज्जन को सजा से सिखों को मिला न्याय, अब नर-संहार के सूत्रधार भी नहीं बचेंगे : विहिप
नई दिल्ली. दिसंबर 17, 2018.   सिखों के नरसंहार के दोषी बड़े कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार को दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा दी गई सजा का विश्व हिन्दू परिषद् ने स्वागत किया है. विहिप के अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त महा-सचिव डॉ सुरेन्द्र जैन ने आज एक प्रेस वक्तव्य में कहा है कि स्वतंत्र भारत के सबसे बड़े नरसंहार के दोषी खुलेआम घूम रहे हों और पीड़ितों के स्वजन खून के आंसू बहाते हुए न्याय पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हों, भारत के इतिहास में ऎसा कभी नहीं हुआ. हालांकि मूल दोषी अभी भी बाकी है, लेकिन, सज्जन कुमार को उम्र कैद की सजा मिलने पर गत 34 वर्षों से सिख समाज के रिसते हुए घावों पर कुछ मरहम तो लगी ही होगी, ऐसा हमारा विश्वास है.
उन्होंने कहा कि यह तो अभी शुरुआत है, न्याय का बाकी हिस्सा तो अभी शेष है. हमें पूर्ण विश्वास है कि इस नरसंहार के सभी दोषी पकड़े जाएंगे और उन्हें कठोरतम सजा दी जाएगी जिससे कोई और अपनी सत्ता का दुरुपयोग करके मासूम जनता का नरसंहार न कर सके. पिछले 34 सालों से सिख समाज न्याय पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहा था और सत्ताधीश पीड़ितों को न्याय दिलाने की बजाय आरोपियों को ही बचाने में व्यस्त रहे.
डॉ जैन ने कहा कि इस निर्णय से देश की न्याय व्यवस्था व सरकारों पर, सिख समाज का विश्वास बहाल हुआ होगा और उन्हें यकीन हुआ होगा कि अब बाकी दोषियों के भी दिन थोड़े ही रह गए हैं. उन्हें भी बहुत जल्द ही कटघरे में खड़ा करके दंड दिया जायेगा. यह सब जानते हैं कि उस समय के सत्ता के शिखर पर बैठे कांग्रेसी नेता इस बर्बर नरसंहार के सूत्रधार थे और इसीलिए वे हत्यारों को बचाने का षडयंत्र कर रहे थे. हमें उम्मीद है अब वे सूत्रधार और बचाने वाले भी जल्द ही कानून के दायरे में आएंगे और उन्हें ऐसी सजा मिलेगी जो निरपराध सिख समाज के जख्मों को भर सके.
जारी कर्ता :
विनोद बंसल
राष्ट्रीय प्रवक्ता
विश्व हिन्दू परिषद्
ट्वीट: @vinod_bansal
M – 9810949109