विहिप महासचिव श्री मिलिंद परांडे जी का प्रेस वक्तव्य

प्रयागराज. 25 फ़रवरी 2020 | कल कुछ इस्लामिक जिहादियों ने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में षडयन्त्र पूर्वक भगवान श्री वाल्मीकि मंदिर पर हमले सहित अनेक स्थानों पर हिंसा व आगजनी का नंगा नाच किया. राजधानी दिल्ली में भी कई क्षेत्रों में दंगाइयों द्वारा किए गए पथराव, आगजनी और गोलीबारी में दुर्भाग्य से दिल्ली पुलिस के हैड कांस्टेबल श्री रतन लाल सहित अनेक हिन्दुओं की नृशंस ह्त्या हो चुकी है. विहिप उन सभी के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हुए दर्जनों पुलिस कर्मियों व अन्य घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती है. संविधान की रक्षा करने तथा अहिंसा का ढोंग रचने वाले समाज कंटकों को प्रशासन द्वारा कठोरता से कुचलने की आवश्यकता है.
शाहीन बाग़ के कारण कई दिनों से देश में  अव्यवस्था निर्माण हो रही है तथा अनेक देश विरोधी और भड़काऊ भाषण भी देश भर में दिए जा रहे हैं. वारिस पठान जैसे छुट-भैये नेता हिंदू समाज का अपमान करने वाले बयान दे रहे हैं. मुस्लिम समाज को यह बात गम्भीरता से समझनी होगी कि यदि उनका नेतृत्व अराष्ट्रीय व हिंसक प्रवृति के लोगों के हाथ में रहा तो सम्पूर्ण मुस्लिम समाज को उनकी करतूतों के दुष्परिणाम झेलने पड़ेंगे. अत: उन्हें अपना नेतृत्व राष्ट्रीय व अहिंसक प्रवृति के लोगों के हाथ में ही देना चाहिए. इतिहास साक्षी है कि जितने भी आतंकियों ने जो सैकड़ों वर्षों से हिन्दू समाज पर आक्रमण किया, उन सभी आक्रमणकारियों को परास्त करने या  हज़म करने में हिंदू समाज पूर्ण रूप से सक्षम है. इन दिनों भी समाज में अशांति और हिंसा भड़काने का प्रयास बहुत हेतु पूर्वक किया जा रहा है.
ऐसा लगता है कि देश में अल्पसंख्यक तुष्टीकरण की राजनीति करने वाले राजनेता तथा राजनीतिक दलों द्वारा हेतु पूर्वक, श्री ट्रंप के प्रवास के दौरान, भारत के प्रतिष्ठा विश्व समुदाय में बिगाड़ने की दृष्टि से, ही यह हिंसा की साज़िश की है. विश्व हिंदू परिषद इसकी कड़ी निंदा करती है. केंद्र सरकार ने जो एक अभिनंदनीय सीएए पारित किया है उससे भारत में आये हुए करोडो हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, शरणार्थीयों की रक्षा होगी और उन्हें भारतीय नागरिकता भी मिलेगी.  विश्व हिंदू परिषद भी CAA के बारे में चलाए जा रहे दुष्प्रचार व भ्रांतियों को दूर करने तथा पाकिस्तान, अफगानिस्तान व बंगलादेश में प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता दिलाने में पूर्ण सहयोग करेगी.
श्रीरामजन्मभूमि के मंदिर निर्माण हेतु माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद विश्व हिंदू परिषद ने संपूर्ण देश में एक विराट कार्यक्रम की घोषणा की है. 25 मार्च (वर्ष प्रतिपदा) से लेकर 7-8 अप्रेल (हनुमान जयंती) तक देश भर में दो लाख से अधिक गांवों तक जाकर विशाल रथ यात्राओं के माध्यम से श्री रामोत्सव के भव्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे.
हाल ही में विश्व हिंदू परिषद ने हिन्दू समाज को संगठन से जोड़ने  के लिए हितचिंतक अभियान चलाया जिसमें 30 लाख से अधिक हिंदू, संगठन के साथ नए जुडे है. समाज के ग़रीब और वंचित वर्ग की सहायतार्थ विश्व हिंदू परिषद सम्पूर्ण देश में 1,00,000 से ज़्यादा शिक्षा, चिकित्सा, महिला सशक्तिकरण तथा कौशल विकास के क्षेत्र में बृहद सेवा कार्य चला रही है. उत्तर प्रदेश में भी इन सेवा कार्यों के बहु-आयामी विस्तार की योजना है.

 

जारी कर्ता :
विनोद बंसल

राष्ट्रीय प्रवक्ता (विश्व हिन्दू परिषद),
Follow us on @VHPDigital