हिन्दुओं की सुरक्षा के साथ अपराधियों पर अंकुश लगाए बिहार सरकार: मिलिंद परांडे

प्रेस वक्तव्य :
हिन्दुओं की सुरक्षा के साथ अपराधियों पर अंकुश लगाए बिहार सरकार: मिलिंद परांडे
नई दिल्ली। मई 13, 2020। बिहार में हिन्दुओं पर बढ़ते जिहादी हमलों से क्षुब्ध विश्व हिन्दू परिषद् (विहिप) ने राज्य सरकार से मांग की है कि हिन्दुओं की सुरक्षा, उनकी शिकायतों पर कार्यवाही तथा सीमावर्ती क्षेत्रों में बांग्लादेशी व रोहिंग्याई घुसपैठियों की देश विरोधी गतिविधियों पर अबिलम्ब अंकुश लगाया जाए। विहिप के केन्द्रीय महा सचिव श्री मिलिंद परांडे ने आज कहा कि गोपालगंज के कटैया थानान्तर्गत मुसलमानों के द्वारा 15 वर्षीय रोहित जायसवाल की जघन्य हत्या की दर्दनाक घटना को ढेड़ माह बीतने पर भी स्थानीय पुलिस ने ना सिर्फ हत्यारों को अभी तक छुट्टा छोड़ रखा है बल्कि पीड़ित परिवार को डरा-धमका कर अपना गाँव छोड़ने को भी मजबूर कर दिया है। इतना ही नहीं, ऐसा कहा जा रहा है कि रोहित की ह्त्या के बाद अब शेष परिजनों को भी आरोपी व पुलिस द्वारा जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं।
उन्होंने कहा कि ऐसी घटना एक नहीं अन-गिनत हैं। किशनगंज में 15 वर्षीया हिन्दू दलित लड़की के साथ मुसलमानों द्वारा सामूहिक बलात्कार कर हत्या का मामला हो या बेगूसराय अनुमंडल में सरैया गांव में रामायण पढ़ने वाले युवकों को रमजान के महीने में रामायण नहीं पढ़ने देने हेतु राहुल पोद्दार परिवार से मारपीट, नालंदा मे हिन्दू व्यवसाइयों द्वारा ओउम् ध्वज लगाने पर मुकदमा हो या सीतामढ़ी, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, कटिहार तथा पूर्वी चम्पारण इत्यादि अनेक स्थानों पर चल रहे सुनियोजित षडयंत्र, सभी में इस्लामिक जिहादियों के अत्याचारों और प्रशासन का उनको कहीं प्रत्यक्ष तो कहीं परोक्ष सहयोग स्पष्ट दीखता है। राज्य के अनेक हिन्दू परिवार पलायन को मजबूर हैं।
श्री परांडे ने आज यह भी कहा कि राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में अनवरत रूप से बढ रही मस्जिदें व मदरसे बांग्लादेशी तथा रोहिंग्या घुसपैठिए मुसलमानों के आतंक का अड्डा बन रही हैं। इसके कारण एक सुनियोजित षडयंत्र के तहत धर्मान्तरण की घटनाएं भी इन क्षेत्रों में अपने चरम पर हैं। अत: इनकी गहन जांच की जाए।
विहिप महासचिव ने मांग की है कि सभी अपराधियों व उनके षडयंत्रकारियों (खासकर रोहित के हत्यारों) को अबिलम्ब गिरफ्तार कर कठोरतम दण्ड मिले, दोषी पुलिसकर्मियों व अधिकारियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही हो, पीड़ितों को सुरक्षा व न्याय मिले तथा विदेशी घुसपैठियों की देश विरोधी हिन्दू विरोधी गतिविधियों पर अंकुश लगाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि इस सम्बन्ध में राज्य के गृह सचिव श्री आमिर सुहानी को बर्खास्त करने का मांगपत्र कल राज्यपाल को दिया जा चुका है। हर नागरिक की सुरक्षा प्रशासन की नैतिक जिम्मेदारी है। हिन्दुओं के साथ पक्षपात पूर्ण व्यवहार के विरुद्ध सामाजिक प्रतिक्रया को नजरंदाज ना करे सरकार।
जारीकर्ता
विनोद बंसल
राष्ट्रीय प्रवक्ता,
विश्व हिंदू परिषद

Press Statement:
BIHAR GOVT SHOULD CURB CRIMINALS AND ENSURE SECURITY OF HINDUS: VHP
New Delhi, May 13, 2020 – Agitated and angry over the growing Jihadi attacks on Hindus in Bihar, the Vishva Hindu Parishad (VHP) has demanded that the state government must ensure security of Hindus, take action on their grievances and with pressing urgency neutralize the anti-national activities of Jihadi Bangladeshi and Rohingya infiltrators in the border areas. VHP Central Secretary General Sri Milind Parande today said that even after one and a half months after the gruesome murder of 15-year-old Rohit Jaiswal by Muslims under Kataiya police station of Gopalganj, the local police has not only left the killers to enjoy a free run till date, but has also threatened and compelled the victim family to leave their village. Not only this, it is also being said that after Rohit’s murder, the remaining family members are also being threatened to be murdered by the Jihadists and the police. Displacement of the victim family elsewhere from their village to save their lives is also extremely worrying.
He said that such incidents are not one but countless. Be it the case of the Kishanganj gang-rape of a 15-year-old Hindu Dalit girl by Muslims or be it the case of the beating up of the Rahul Poddar family in Saraiya village in Begusarai subdivision on the unconstitutional charge that their youths cannot recite the Ramayana in the month of Ramzan, or be it the instance of sueing Hindu businessmen for putting up Om Flags in Nalanda, or be it the matter of premeditated and deliberate conspiracies going on at multiple locations including Sitamarhi, Begusarai, Purnia, Araria, Katihar and East Champaran, etc., the atrocities and footprints of Islamic Jihadists and somewhere direct and somewhere indirect support to them by the administration are quite in plain sight. Many Hindu families of the state are forced to flee.
Shri Parande today also said that new mosques and Madrasas are persistently popping up in the border areas of the state and those are serving as the Jihadi terror Addas of Bangladeshi and Rohingya infiltrators. Due to this, the incidents of religious conversions, under a planned conspiracy to change the demographic structure, are also at its peak in these areas. They should, therefore, be severely examined.
The VHP secretary general has demanded that all the criminals and their masterminds (especially Rohit’s killers) be arrested and given the hardest punishment without delay, strict action be taken against the policemen and officers that supported the criminals, protection and justice be ensured for the victims, and the activities of the foreign infiltrator anti-Hindu and anti-national forces be curbed. He also said that in this regard, the demand for dismissal of the State Home Secretary Shri Aamir Suhani has been given to the Governor yesterday. Security of every citizen is the moral and constitutional responsibility of the administration. The Government must not ignore the social reaction of Hindus against mal-treatment and partisan anti-hindu behavior.
Regards
Vinod Bansal
National Spokesperson
Vishva Hindu Parishad

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *