मेवात के जिहादियों द्वारा हिन्दू उत्पीडन पर अंकुश लगाए हरियाणा सरकार: विहिप

प्रेस वक्तव्य :
मेवात के जिहादियों द्वारा हिन्दू उत्पीडन पर अंकुश लगाए हरियाणा सरकार: विहिप
जीडी बख्सी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच दल देगा 2 दिन में देगा रिपोर्ट
नई दिल्ली। मई 14, 2020। हरियाणा के मेवात में बढ़ते इस्लामिक जिहादियों के साथ बांग्लादेशी व रोहिंग्या मुसलमानों के आतंक से पीडित हिन्दू समाज की रक्षार्थ अब विश्व हिन्दू परिषद(विहिप) ने कमर कस ली है. विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेन्द्र जैन ने आज कहा है कि क्षेत्र में बेतहासा बढती जिहादी गतिविधियों के आगे जिस प्रकार स्थानीय पुलिस व प्रशासन लाचार दिख रहा है वह वेहद गम्भीर बात है. राज्य सरकार अबिलम्ब पीड़ित हिन्दुओं को न्याय दिलाकर दोषी पुलिस कर्मियों व प्रशासनिक अधिकारियों को निलंबित करे.
उन्होंने कहा कि हरियाणा के मेवात में जिहादियों द्वारा हिंदू समाज पर अमानवीय व बर्बर अत्याचारों का सिलसिला बहुत पुराना है। अभी तक इस पर कोई नियंत्रण नहीं हो सका है। संतो, हिंदू कार्यकर्ताओं, हिंदू समाज पर निरंतर अत्याचार होते रहते हैं। बांग्लादेशी व रोहिंग्या घुसपैठिए वहां शरण पाते हैं और जब कोरोना संक्रमित देशी-विदेशी जमातियों पर अंकुश लगाया गया तो उनको छिपने की जगह भी मेवात ही मिली। आज इनके आतंक के सामने पुलिस प्रशासन भी स्वयं को असहाय पाता है। कई बार तो ऐसा भी होता है कि पुलिस व प्रशासन इन अत्याचारियों के साथ ही खड़ा हुआ दिखाई देता है।
पिछले दो महीनों में हिंदुओं पर अत्याचार का नया सिलसिला प्रारंभ हुआ है। नूह जिले के पुनहाना व नगीना प्रखंड मानो इन अत्याचारों के केंद्र बन गए हैं। आज हिंदू व्यापारी किसी मुस्लिम से अपनी उधारी वसूल करने की हिम्मत नहीं कर सकता। उसकी पिटाई कर दी जाती है। 12 मई को एक हिंदू बालक की शिखा पर अभद्र टिप्पणी की गई। विरोध करने पर उसके परिवार की 200  लोगों ने बुरी तरह पिटाई कर दी। ऐसी और भी अनेकों घटनाएं पिछले दिनों में हुई हैं। अपना कोई संरक्षक नहीं है यह समझ कर अब हिंदू समाज अपना धैर्य खो रहा है और पलायन को मजबूर हो रहा है.
विश्व हिंदू परिषद राज्य सरकार से अपील करती है कि पीड़ित हिन्दू समाज को न्याय मिले, अपराधियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही हो तथा दोषी अधिकारियों को अविलंब निलंबित किया जाए जिससे  हिंदू समाज के सुरक्षा व प्रशासन के प्रति उसका विश्वास पुनः स्थापित हो सके.
विश्व हिंदू परिषद ने आज एक तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय जांच दल के गठन की घोषणा भी कर दी है. जिसमें मेज. जनरल(सेवानिवृत) जीडी बक्शी के अलावा महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी धर्मदेव जी महाराज भी रहेंगे। विहिप की अपेक्षा है कि यह जांच दल दो दिन में ही अपनी रिपोर्ट हमें दे देगा जिसे हम सार्वजनिक करने के साथ-साथ हरियाणा के मुख्यमंत्री जी को भी भेजेंगे. हम अपेक्षा करते हैं कि सारे तथ्य सामने आएंगे और सरकार शीघ्र ही अपराधी तत्व पर कठोरतम कार्यवाही करेगी।
जारीकर्ता
विनोद बंसल
राष्ट्रीय प्रवक्ता,
विश्व हिंदू परिषद
Press Statement:
Curb Jihadist to save Hindus in Mewat: VHP
A three-member investigation team led by G.D. Bakshi will report in 2 days
          New Delhi, May 14, 2020 – The Vishva Hindu Parishad (VHP) has now set itself up for the protection of the Hindu society in Mewat (Haryana) suffering from the growing terror of Islamic Jihadis who have now been joined forces also by Bangladeshi and Rohingya Muslims. VHP’s Central Joint General Secretary Dr. Surendra Jain said today that the way the local police and the administration are showing helplessness in the face of the growing Jihadi activities in the area is a very serious matter. The state government should immediately ensure justice to the victimized Hindus and suspend the guilty police personnel and administrative officers.
He said that the seriality of inhuman and barbaric atrocities on Hindu society by Jihadis in Mewat, Haryana is very old. So far things are un-controlled. Saints, Hindu Karyakartas, Hindu society continue to be persecuted in the area. Bangladeshi and Rohingya infiltrators find safe haven there and when the absconding Corona-infected indigenous and foreign Jamatis were being tracked, they also got hiding sanctuary in Mewat. Today the police administration also finds itself helpless in the face of their terror. Many times it also happens that the police and administration are seen standing with these persecutors.
A new series of atrocities on Hindus started in the last two months. The Punhana and the Nagina blocks of Nuh district have sort of become the epicenters and central arenas of these atrocities. Today no Hindu businessman can dare to recover his petty dues from a Muslim. He is beaten up. On 12 May, a Hindu boy’s Shikha (lock of hair) was made a point of indecent remarks. His family was severely beaten by 200 people for protesting. Many more such incidents have also happened in the recent days. Realizing that there is no custodian for the Hindu society, it is now losing its patience and forced to flee.
The Vishva Hindu Parishad appeals to the state government to ensure justice for the aggrieved and victimized Hindu society, take stringent action against the culprits and suspend the guilty officers without delay, so that the trust of the Hindu society in its security and the administration can be restored.
The Vishva Hindu Parishad has today announced the formation of a three-member high-level investigation team, in which, apart from Major General (Retd) G.D. Bakshi, Mahamandaleshwar Ven. Swami Dharmadev Ji Maharaj will also be there. The VHP expects that this investigation team will give its report within two days, which the VHP will send to the Hon’ble Chief Minister of Haryana for action and also make it public. VHP expects that all the facts & figures will come out and the government will quickly take strict action against the criminal elements.
Regards
Vinod Bansal
National Spokesperson
Vishva Hindu Parishad

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *