विश्व हिन्दू परिषद गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के संदर्भ में पाकिस्तान के निर्णय की निंदा करती है: आलोक कुमार

प्रेस वक्तव्य :

विश्व हिन्दू परिषद गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के संदर्भ में पाकिस्तान के निर्णय की निंदा करती है:

आलोक कुमार, एडवोकेट, कार्याध्यक्ष-विहिप

 

नई दिल्ली, नवंबर 6, 2020. पाकिस्तान सरकार द्वारा गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के प्रबंधन को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी(PSGPC) से हटा कर ‘इवैक्यूई ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड’ (ETPB) को दीए जाने की विश्व हिन्दू परिषद कड़ी निंदा करती है।

 

इस संबंध में यह तर्क दिया जाना कि कमेटी गुरुद्वारे के प्रबंधन के काम में हिस्सेदार होगी, वह सिर्फ भ्रम या मिथ्या प्रचार के अतिरिक्त कुछ नहीं क्योंकि ETPB के 9 सदस्यों में से एक भी सिख नहीं है। ETPB ने जिस प्रकार गुरुद्वारे के प्रोजेक्ट प्रबंधन विभाग को उसके खातों को भी देखने का अधिकार दिया है, उससे स्पष्ट होता है कि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी उस पवित्र गुरुद्वारे को ‘रहत’ और ‘मर्यादा’ के साथ स्वेच्छिक रूप से नहीं चला सकती।

 

इससे स्पष्ट होता है कि विश्व के पवित्रतम गुरुद्वारे को पाकिस्तान की सरकार और अंततोगत्वा वहाँ का मुस्लिम समुदाय हड़पना चाहता है। भारत सरकार के विदेश विभाग ने अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज करा दी है। विश्व हिन्दू परिषद भी मांग करती है कि पाकिस्तान सरकार गुरुद्वारे के प्रबंधन को वहाँ के सिख समुदाय को सौंपे।

जारी कर्ता:

विनोद बंसल

राष्ट्रीय प्रवक्ता

विश्व हिन्दू परिषद

M-9810949109 @vinod_bansal

 

PRESS STATEMENT

VISHVA HINDU PARISHAD (VHP) CONDEMNS THE DECISION OF GOVT. OF PAKISTAN ABOUT GURUDWARA KARTARPUR SAHIB:

ALOK KUMAR, ADVOCATE, WORKING PRESIDENT VHP

 

New Delhi. November 06,2020. Vishva Hindu Parishad (VHP) condemns the decision of the Govt. of Pakistan to handover Gurudwara Kartarpur Sahib for management and maintenance from Pakistan Sikh Gurdwara Parbandhak Committee (PSGPC) to the Evacuee Trust Property Board (ETPB).

The argument that PSGPC shall continue to be a part of the management of Gurudwara is fallacious as amongst the nine members of the ETPB, not even one is a Sikh. The Project Management Unit formed under the ETPB will also look after the accounts of the Gurudwara and thus, there shall be no autonomy with the Gurudwara Prabandhak Committee to run the Gurudwara as per the rahat and maryada.

 

This amounts to subjugation of one of the most revered Gurudwaras in the world to the Govt. and in effect to the people of another viz Muslim faith. The MEA of the Govt. of India has lodged protest against it. VHP joins in the protest and demands that Pakistan Govt. may leave the Gurudwaras to be managed by the Sikh Community in Pakistan.

 

Regards

Vinod Bansal

National Spokesperson

Vishva Hindu Parishad

M-9810949109 @vinod_bansal