हिंदूओं की मॉब लिन्चिंग पर चुप्पी क्यों? : डॉ सुरेन्द्र जैन

प्रेस वक्तव्य:

हिंदूओं की मॉब लिन्चिंग पर चुप्पी क्यों? : डॉ सुरेन्द्र जैन

नई दिल्ली अक्तूबर 12, 2020। दिल्ली में पिछड़े वर्ग के एक गरीब ड्राइवर के लड़के राहुल कंडेला की कुछ कट्टरपंथी मुसलमानों के द्वारा की गई बर्बर हत्या पर विश्व हिंदू परिषद ने अपनी चिंता व्यक्त करते हुए पूछा है कि क्या इस 19 वर्षीय गरीब युवक की एक मुस्लिम युवती से दोस्ती होना ही उसका अपराध बन गया था जिसकी सजा जिहादी तत्वों ने उसकी मॉब लिंचिंग करके दी। विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ सुरेन्द्र जैन ने आज कहा है कि संपूर्ण देश के लिए यह बहुत चिंता का विषय है कि जब भी किसी हिंदू लडके का किसी मुस्लिम लड़की से प्यार हो जाता है तो वह लड़का मृत्युदंड प्राप्त करने का अपराधी बन जाता है परंतु जब कोई मुस्लिम लड़का किसी हिंदू लड़की से जबरन या धोखा देकर भी संबंध स्थापित करता है तो वह iइनके लिए किसी अपराध की श्रेणी में नहीं आता है। हिंदू युवक को अपराधी मानकर उसकी मॉब लिंचिंग कर देना किसी सभ्य समाज का लक्षण नहीं हो सकता।

डॉ जैन ने आगे कहा कि भारत में मुस्लिम समाज सबसे अधिक सुखी है। यह बहुसंख्यक हिंदू समाज की सदाशयता और सहिष्णुता के कारण ही संभव हो सकता है। इसके बावजूद यह समझना पड़ेगा कि मुस्लिम समाज का एक बड़ा वर्ग हिंदुओं के प्रति इतनी घृणा क्यों करता है। छोटी मोटी बातों पर भी वह उसी हिंदू की मॉब लिंचिंग कर देता है। पिछले चार-पांच सालों में ही जिहादियों द्वारा हिंदुओं की माब लिंचिंग की 73 से अधिक घटनाएं हो चुकी है। देश की राजधानी दिल्ली में ही पिछले 5 सालों में हिंदुओं की 9 से अधिक मॉब लिंचिंग की घटनाएं हो चुकी है।

उन्होंने कहा कि विहिप मुस्लिम समाज के नेताओं से आग्रह करती है कि वे अपने समाज के एक वर्ग की इस जेहादी मानसिकता को ठीक करें। अपने युवकों को जेहाद की जगह सह-अस्तित्व के मार्ग पर लाएं। हिंदू समाज की सहिष्णुता को अन्यथा नहीं लिया जाना चाहिए।

विश्व हिंदू परिषद का मानना है कि इस कट्टरता व हिंसक घृणा को बढ़ावा देने के लिए कथित सेकुलर बिरादरी भी कम दोषी नहीं है। मुस्लिम समाज के किसी व्यक्ति के साथ हुई कुछ घटनाओं के लिए वे न केवल केंद्र सरकार को अपितु हिंदू समाज व संपूर्ण देश को कटघरे में खड़ा कर देते हैं परंतु राहुल जैसे पचासों युवकों की मॉब लिंचिंग पर उनके मुंह से संवेदना का एक शब्द भी नहीं निकलता। जब आईबी अधिकारी अंकित शर्मा को चाकू से गोद गोद कर हत्या कर दी थी तब भी इनके मुंह क्यों सिल गए थे? बलात्कार जैसा घृणित अपराध अक्षम्य है। परंतु इसमें भी हिंदू मुस्लिम देखने का अपराध यह सेकुलर बिरादरी ही कर सकती है। हाथरस कांड में उनकी प्रतिक्रिया से यह स्पष्ट हो गया है कि ये घटनाएं सेकुलर बिरादरी के लिए केवल अपने निहित स्वार्थ पूरे करने का साधन मात्र है और वे अपने इस अपराधिक कृत्य के लिए भारत विरोधी विदेशी शक्तियों की कठपुतली भी बन जाते हैं। भीम आर्मी जैसे दलित संगठनों की भूमिका से यह स्पष्ट हो चुका है कि वे भी अपने स्वार्थों के लिए दलित विरोधी व राष्ट्र विरोधी भूमिका का निर्वाह करने में भी कोई संकोच नहीं करते। राष्ट्रीय विचारधाराओं वाली चुनी गयी सरकारों को अस्थिर करने के लिए वे हिंदू समाज व देश को बदनाम करने का राष्ट्र विरोधी कृत्य कर रहे हैं। इसके लिए समाज उन्हें कभी क्षमा नहीं करेगा।

जारीकर्ता:
विनोद बंसल
राष्ट्रीय प्रवक्ता,

विश्व हिंदू परिषद
अणु डाक: vinodbansal01@gmail.com

चल दूरभाष : +91 9810949109 @vinod_bansal

Press statement
Why silence on mob lynching of Hindus? – Dr. Surendra Jain

New Delhi, October 12, 2020 – The Vishva Hindu Parishad has expressed its concern over the brutal killing of a boy Rahul Kandela, son of a driver from a poor backward class in Delhi, by some radical Muslims, asking if this 19-year-old teenager being friends with a Muslim girl had become his crime, for which he was penalized by Jihadi elements with mob lynching? VHP Central Joint General Secretary Dr. Surendra Jain today said that it is a matter of great concern for the entire country that whenever a Hindu boy falls in love with a Muslim girl, that boy is tagged as a criminal and gets marked for sure death penalty, but when a Muslim boy establishes a relationship with a Hindu girl even by force or fraud, he does not come under any category of crime for them. By tagging the Hindu youth as a criminal and killing him by mob lynching cannot be an indicator of a civilized society!

Dr. Jain further said that Muslim society is the happiest in Bharat. This can only be possible by virtue of the goodwill and tolerance of majority Hindu society. Despite this, one has to comprehend why a large section of Muslim society nurses so much hatred for Hindus. Even on trivial matters, he goes on to mob-lynch Hindus. In the last four-five years, there have been more than 73 incidents of mob lynching of Hindus by Jihadists. In the national capital Delhi itself, there have been more than 9 mob lynching incidents to kill Hindus in the last 5 years.

He said that the VHP urges the leaders of Muslim society to remedy and cure this sickness Jihadi-Mindset of a section of their society and bring them to the path of CO-EXISTEN instead. The tolerance of Hindu society should not be taken otherwise.

The Vishva Hindu Parishad believes that the so-called secular fraternity is no less guilty for promoting this bigotry and violent hatred. For some isolated incidents with a member of Muslim society, they not only put the central government but the Hindu society and the entire country in the dock, but not a word of sympathy and condolence escapes their mouth when scores of youths like Rahul are mob-lynched. When IB officer Ankit Sharma was assaulted, brutally tortured and killed and his badly mutilated body dumped in the drain, why was the mouth of the secular fraternity stitched? A despicable and repellent crime like rape is unpardonable. But in this too, only the secular fraternity can commit the crime of seeing Hindu-Muslim. Their reaction in the Hathras incident has made it clear that these incidents are merely a means for the secular fraternity to fulfil their vested interests and they also commit the crime of becoming the puppets in the hands of anti-India foreign powers. The role of Dalit organizations like the Bhim Army has made it clear that they too do not hesitate to play their anti-Dalit and anti-national role to fulfil their vested interests. They are working overtime to destabilize elected nationalist governments, promote anti-national activities, defame the Hindu society and the country. The society will never forgive them for this! Released by

Vinod Bansal

National Spokesperson

Vishva Hindu Parishad

M-9810949109 @vinod_bansal

Email : vinodbansal01@gmail.com

You May Also Like