सीता नवमी कार्यक्रम

सीता नवमी कार्यक्रम
 वैशाख शुक्ल नवमी यह सीता माता का प्राकट्योत्सव है। इस शुभदिन को सीता नवमी (जानकी नवमी) कहते हैं। अंग्रेजी तिथि के अनुसार इस वर्ष शनिवार  दिनांक 02 मई, को सीतानवमी है।
सीता नवमी यह अपना वार्षिक कार्यक्रम है। मातृशक्ति, दुर्गावाहिनी की बहनें हर वर्ष यह कार्यक्रम मनाती है। इस समय लाक डाउन चल रहा है इसलिए अपने-अपने परिवारों में यह कार्यक्रम करने के लिए निवेदन किया है।
कार्यक्रम स्वरूप
 दिनांक 02 मई के दिन सायं 05.00 बजे यह कार्यक्रम हम करेंगे। श्रीराम दरबार का चित्र सामने रखकर कार्यक्रम हो।
01. प्रारम्भ में पुष्पार्चन, अगरबत्ती, दीप प्रज्वलित कीजिए।
02.  प्रणवोच्चार और उसके बाद 13 बार ‘‘श्रीराम जय राम जय जय राम’’ यह विजय मंत्र का उच्चारण कीजिए।
03. श्रीराम माँ सीता जी का एक भजन हो।
04. आखिर में सीता माता की आरती हो।

सीता माता की आरती

 आरती श्री जनकदुलारी की-सीता जी रघुवरी प्यारी की।।
 जगत जननी जग की विस्तारिणि-नित्य सत्य साकेत विहारिणि।।
 परम दयामयी दिनोद्धारिणि-सीया मैया भक्तन हितकारी की।। सीता जी।।
 सती शिरोमणि पति हित कारिणि -पति सेवा हित वन-वन चारिणि।।
 पति हित पति वियोग स्वीकारिणि -त्याग धर्म मूर्ति धारी की ।। सीता जी।।
 विमल कीर्ति सब लोकन छाई -नाम लेत पावन मति आई।।
 सुमीरात काटन कष्ट दुखदाई-शरणागत जन भय हारी की ।। सीता जी ……।।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *