“श्री राम जन्म-भूमि आन्दोलन : एक नव जागरण” विषय पर आयोजित संगोष्ठी

राम जन्मभूमि आन्दोलन के कारण हुआ भारत का भगवा युग में प्रवेश, 2018 से होगा भव्य मंदिर का निर्माण प्रारम्भ : डा सुरेन्द्र जैन

नई दिल्ली। सितंबर 16, 2017. श्री राम जन्म भूमि आन्दोलन के कारण ही भारत ने भगवा युग में प्रवेश किया तथा आज यह विश्व की महा शक्ति बनाने Shri Ram Janma Bhoomi Movementकी ओर अग्रसर है.

“श्री राम जन्म-भूमि आन्दोलन : एक नव जागरण” विषय पर आयोजित एक गोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त महा मंत्री डा सुरेन्द्र कुमार जैन ने कहा कि आन्दोलन के विविध चरणों में लगभग 16 करोड़ लोगों की भागीदारी ने इसे न सिर्फ इसे विश्व का सबसे बड़ा आन्दोलन बनाया बल्कि विदेशी आक्रान्ता के बाबरी नामक पाप को देखते ही देखते धूल-धूसरित कर मंदिर का शिलान्यास भी कर दिखाया. यह आन्दोलन अब एक नव जागरण बन कर हिन्दूओं के स्वाभिमान और देश के सामर्थ्य को जगाने का तो कार्य कर ही रहा है साथ ही 2018 में अयोध्या जन्म-भूमि पर मंदिर को भव्यता देने का कार्य भी प्रारम्भ हो जाएगा.
गोष्ठी को संबोधित करते हुए विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री विजय शंकर तिवारी ने कहा कि इसी नव जागरण ने ही भारत की राष्ट्रीयता को नए सिरे से परिभाषित कर यह स्थापित किया कि भारत बाबर, गजनी, गौरी जैसे विदेशी आक्रान्ता से नहीं Shri Ram Janma Bhoomi Movementबल्कि राणा सांगा, महाराणा प्रताप तथा छत्रपति शिवाजी महाराज जैसे महा पुरुषों के नाम से जाना जाता है. उन्होंने यह भी कहा कि राम जन्म भूमि के नव जागरण के परिणाम स्वरूप ही, महर्षि अरविंद की यह बात कि इस देश का मूल रंग भगवा ही है, सत्य सिद्ध हुई है तथा भारत ने भगवा युग में पुन: प्रवेश किया है.सेन्ट्रल दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेशन सेंटर में उपस्थित विशाल जन समूह को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार तथा प्रसार भारती के सलाहकार श्री ज्ञानेंद्र वरतारिया ने जन्म भूमि पर मस्जिद की वकालत करने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह तो आक्रमणकारी को आक्रान्त होने का लाभ देने के अलावा कुछ और नहीं. उन्होंने कहा कि हिंदुत्व ही राष्ट्रीयता है और जन्म भूमि पर मंदिर की भव्यता से ही राष्ट्रमंदिर की पुन: प्रतिष्ठा हो सकेगी.
अपना आशीर्वचन देते हुए सनातन धर्म प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष महा मंडलेश्वर पूज्य स्वामी राघवानंद जी महाराज ने कहा कि जन्म भूमि मुक्ति हेतु किए 489 वर्षों के लगातार संघर्ष का परिणाम अब स्पष्ट दिखने लगा है. भगवान श्री राम की जन्म भूमि पर मंदिर की भव्यता से भारत की अनेक समस्याओं का निराकरण स्वमेव हो जाएगा.
इन्द्रप्रस्थ विश्व हिन्दू परिषद, दिल्ली के मीडिया विभाग द्वारा आयोजित इस गोष्ठी में विश्व हिन्दू परिषद के प्रांत महा मंत्री श्री बच्चन सिंह, उपाध्यक्ष श्री बृज मोहन सेठी, मीडिया प्रभारी श्री महेंद्र रावत, बजरंग दल के राष्ट्रीय सह-संयोजक श्री सोहन सिंह सोलंकी, प्रांत संयोजक श्री शिव कुमार, सह संयोजक श्री श्याम कुमार, दुर्गा वाहिनी संयोजिका कु कुसुम सहित राजधानी के कोने कोने से आए विविध सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक तथा व्यापार संगठनों के पदाधिकारी तथा राम भक्त उपस्थित थे.

विनोद बंसल
(राष्ट्रीय प्रवक्ता-विहिप)
@vinod_bansal M-9810949109

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *