हिंदुओं की सुरक्षा तथा जिहादियों पर नाकेल कसे बांग्लादेशसरकार: विहिप


no img found

प्रेस विज्ञप्ति:

नई दिल्ली। अक्टूबर 14, 2021। विश्व हिंदू परिषद ने बांग्लादेश में मंदिरों और हिन्दू आराध्य देवों की प्रतिमाओं पर हमले की घटनाओं की घोर निंदा करते हुए आक्रमणकारियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही तथा हिंदुओं की सुरक्षा की मांग की है। विहिप के केन्द्रीय महामंत्री श्री मिलिंद परांडे ने आज कहा है कि चिटगांव डिवीज़न के कोमिल्ला क्षेत्र में एक दुर्गा पूजा मंडप के बाहर हनुमान जी की प्रतिमा पर रात के अंधेरे में षड्यंत्रपूर्वक कुरान की प्रति रखे जाने तथा सुनियोजित ढंग से जगह-जगह दुर्गा पूजा मंडपों की प्रतिमाओं को चकनाचूर किया जाने से हिन्दू समाज बेहद आहत है। समाचार आ रहे हैं कि वहाँ हिंदुओं को बर्बरतापूर्वक यातनाएं देने का क्रम जारी है। मंदिरों, पूजा मंडपों पर हुए हमलों में अभी तक कम से कम दो हिंदू अल्पसंख्यकों की मृत्यु हो चुकी तथा 500 से अधिक घायल हुए हैं। दुर्गा पूजा त्यौहार के दौरान प्रतिमाओं के निरादर की घटनाएं बांग्लादेश में और भी कई स्थानों पर हुई हैं। स्थानीय उग्रवादी व आतंकी संगठनों के कथित आह्वान के कारण हिंदुओं पर वहाँ अभी और आक्रमणों के अंदेशे को देखते हुए वहाँ की स्थितियाँ और बिगड़ने की संभावना है। इस कारण बांग्लादेश का अल्पसंख्यक समाज और भी भयभीत है। बांग्लादेश सरकार अपने अल्पसंख्यक हिंदुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए जिहादियों पर अंकुश लगाए तथा पीड़ित हिंदुओं के नुकसान की भरपाई और मृतकों व घायलों को उचित मुआवजे की व्यवस्था करे।
श्री परांडे ने आज कहा कि भारत सरकार के साथ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को भी वहाँ के अल्पसंख्यक हिंदुओं के जान-माल और उनकी धार्मिक मान्यताओं की सुरक्षा हेतु बांग्लादेश सरकार पर उचित कार्रवाई के लिए दबाव बनाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र और उसकी संबंधित एजेंसियों के इस विषय पर मौन पर भी चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हिंदूओं के मानवाधिकारों की रक्षा की जब बात आती है तो ये कार्यवाही से पीछे क्यों हट जाते है? बांग्लादेश सरकार जिहादियों की अबिलंब गिरफ़्तारी व कड़ी सजा के साथ भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृति रोकने हेतु कठोर कदम सुनिश्चित करे।

उन्होंने भरोषा दिलाया कि विश्व हिंदू परिषद समेत समस्त हिंदू समाज बांग्लादेश के पीड़ित हिंदुओं के साथ खड़ा है तथा हम उनकी हर-संभव मदद करेंगे।

भवदीय

विनोद बंसल

राष्ट्रीय प्रवक्ता,

विश्व हिंदू परिषद।

New Delhi, October 14, 2021 - The Vishva Hindu Parishad (VHP) has strongly condemned the incidents of attacks on temples and divine icons of Hindus in Bangladesh and demanded strict action against the aggressors and protection of Hindus! The Central Secretary General of VHP, Shri Milind Parande said that today, in the dark of night, a copy of the Quran was conspiratorially and surreptitiously planted on the divine icon of Hanuman ji outside a Durga Puja pandal in Comilla area of Chittagong Division and the attackers went wild in tearing down the Durga Puja pandals at different places, and the Hindu society is deeply hurt by such destruction of their icons in the Puja Mandaps. There are reports that there is a continuation of brutal torture and persecution of the Hindu minorities. At least two Hindus have been slaughtered and more than 500 have been injured in attacks on temples and Hindu shrines. Incidents of desecration of divine icons during the Durga Puja festival have taken place at many other places in Bangladesh. The situation there is likely to deteriorate further as there are fears of further attacks on Hindus following the alleged call by local extremist and terrorist organizations to mount such attacks. Due to this the minority community of Bangladesh is even more terrified. The Government of Bangladesh, while ensuring the safety and security of its minority Hindus, should curb the radical Jihadis by putting its hook in their nose, and duly compensate the Hindu victims for their loss of life, property and also compensate the injured.

Shri Parande said that the Government of India (GOI) as well as the international community should pressurize the Government of Bangladesh to take appropriate action to protect the lives and property of the minority Hindus and their spirituo-religio-cultural thought, expression, belief, faith and worship! Expressing concern over the silence of the United Nations Organization (UNO) and its related agencies on the subject, he said why do they shy away from action when it comes to protecting the human rights of Hindus? The Government of Bangladesh (GOB) should ensure strict measures to prevent the recurrence of such incidents in future with immediate arrest and exemplary punishment of radical Jihadists.

He assured that the entire Hindu society, including Vishva Hindu Parishad, stands with the persecuted Hindus of Bangladesh and we will extend all possible help to them.

Vinod Bansal

National Spokesperson

Vishva Hindu Parishad

@VHPDigital @vinod_bansal

Follow on: Facebook https://www.instagram.com/vinodbansal01

Issued By