जगद्गुरु रामानुजाचार्य जी की सहस्त्राब्दी पर करेंगे राष्ट्र व्यापी जन-जागरण: विहिप



 
 
May be an image of 1 person and standing
 
नई दिल्ली। फरवरी 04, 2022। 11वीं शताब्दी में विश्व को समता, समानता, राष्ट्रीय एकात्मता तथा मानवता का महत्वपूर्ण संदेश देने वाले महान संत पूज्य श्री रामानुजाचार्य की जयंती पर हिन्दू परिषद ने देशभर में अनेक कार्यक्रमों की योजना बनाई है। इस संदर्भ में विहिप के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष सीनियर एडवोकेट श्री आलोक कुमार ने आज कहा कि यह एक संयोग ही है कि एक ओर भारत अपनी आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है वहीं दूसरी ओर इसी वर्ष इस आजादी की रक्षा के मूल तत्व समानता व सामाजिक समरसता के उद्घोषक महान संत पूज्य श्री रामानुजाचार्य जी की सहस्त्राब्दी का महोत्सव भी मनाया जा रहा है। इस 5 फरवरी से प्रारंभ होने वाले इन महोत्सवों में विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ता भी देश भर में अपने-अपने स्थानों पर अनेक प्रकार के कार्यक्रम कर उनके पावन संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने का कार्य करें।
उन्होंने कहा कि हमें प्रसन्नता है कि उनकी सहस्त्राब्दी के इन कार्यक्रमों में माननीय प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति महोदय तो रहेंगे ही विहिप के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ मुझे भी हैदराबाद (तेलंगाना) स्थित उनके आश्रम द्वारा किए जाने वाले विविध कार्यक्रमों में सहभागी होने का सौभाग्य मिलेगा।
श्री आलोक कुमार ने सभी कार्यकर्ताओं व हिन्दू समाज से आह्वान किया कि वो पूज्य श्री रामानुजाचार्य जी के इन सहस्त्राब्दी समारोहों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें तथा उनके महान व्यक्तित्व व कृतित्व से सम्पूर्ण विश्व को आलोकित करें।
 
 
Nation-wide public awareness on Sahasraabdi of Jagadguru Ramanujacharya ji: VHP
 
New Delhi, February 04, 2022 – On the auspicious occasion of the millennial birth anniversary celebrations of the great saint Pujya Shri Ramanujacharya Ji, who gave the very important message of equitability, equality, national unity-integrity and humanism to the world in 11th century, the Vishva Hindu Parishad has planned many programmes across the country. In this context, VHP's International Working President, Senior Advocate Shri Alok Kumar said that it is a happy coincidence that, on the one hand, this year, our country is celebrating the 'Azadi Ka Amrit Mahotsav' to celebrate and commemorate 75 years of independence of progressive Bharat and the glorious history of its people, culture and achievements and, on the other, this same year itself, the millennial birth anniversary of the great saint Pujya Shri Ramanujacharya Ji is being celebrated, who, a thousand years ago, proclaimed equality and social harmony as being the keystones or central principles or parts of our national policy and system on which this Azadi would depend. In these millennial festivals starting from 5th February, 2022, the Karyakartas of Vishva Hindu Parishad would also do various programmes at their respective places across the country to take and spread the holy message of the great saint to the people.
He said that we are happy that in these millennial celebration programmes, the Hon'ble Prime Minister and the Mahamahim President will be there. I, along with senior VHP functionaries, will also have the privilege of participating in various programmes being organized by the saint’s Ashram in Hyderabad (Telangana).
Shri Alok Kumar called upon all the Karyakartas of VHP and the Hindu society to participate enthusiastically in these millennial celebrations of revered Shri Ramanujacharya ji and enlighten the whole world about his great personality and work.
 
Issued by -
Vinod Bansal
National Spokesperson
Vishva Hindu Parishad